प्राइवेट अस्पतालों को भी कोरोना पेशेंट के लिए रिजर्व रखने होंगे बैड, सरकार ने किए जारी आदेश
April 1st, 2020 | Post by :- | 174 Views

कोरोना वायरस के फैलने की सूरत में मरीजों की संख्या बढ़ने पर सरकार निजी अस्पतालों की भी मदद लेगी। इसके लिए सरकार ने अपना एक्शन प्लान तैयार कर लिया है। सरकार ने सभी निजी अस्पतालों के मालिकों को अपने अस्पतालों में क्लीनिकल उपकरणों की उचित व्यवस्था बनाए रखने के आदेश जारी किए हैं। सरकार ने निजी अस्पताल मालिकों को मेडिकल और पैरा मेडिकल स्टाफ को छुट्टियों पर न भेजने को कहा है। सरकार ने आपातकालीन स्थिति में ही स्टाफ को छुट्टियां देने की बात कही है।

सरकार ने सभी संबंधित डीसी, सीएमओ को अपने-अपने जिलों में ऐसे अस्पतालों को चिन्हित करने को कहा है जहां पर कोविड-19 के मरीजों को आइसोलेट किया जा सके। इस संबंध में सरकार ने भी डीसी, एचओडी और सीएमओ को आदेश जारी किए हैं ताकि कोरोना के संभावित मरीजों की संख्या बढ़ने पर निजी अस्पतालों की मदद ली जा सके। अतिरिक्त मुख्य सचिव आरडी धीमान ने बताया कि इस महामारी से निपटने में किसी भी तरह की कोई चूक न हो। सरकार अपने स्तर पर पूरी तैयारी कर रही है। हिमाचल में इस समय 100 निजी अस्पताल पंजीकृत हैं। इनकी मदद सरकार कोविड-19 से लड़ने में लेगी।

एमएमयू को आइसोलेशन सुविधा युक्त स्वास्थ्य संस्थान चिन्हित
सोलन के डीसी केसी चमन ने निर्देश दिए कोरोना वायरस के खतरे से निपटने के लिए महर्षि मारकण्डेश्वर चिकित्सा विश्वविद्यालय (एमएमयू) का कोई भी मेडिकल, पैरा मेडिकल कर्मी एवं इन्टर्न एमएमयू अथवा स्थान नहीं छोड़ेगा। इन आदेशों के अनुसार सोलन जिला में कार्यरत सभी निजी अस्पताल, क्लीनिक एवं नर्सिंग होम कर्फ्यू अवधि के दौरान आमजन की सुविधा के लिए खुले रहेंगे। डीसी ने कहा कि एमएमयू को जिला सोलन में कोविड-19 के उपचार के लिए आइसोलेशन सुविधा युक्त स्वास्थ्य संस्थान के रूप में चिन्हित किया गया है।

आज किए 17 संक्रमितों के टेस्ट, सभी आए नेगेटिव

प्रदेश में बुधवार काे काेराेना संक्रमण से संबंधित 17 लाेगाें के टेस्ट करवाए गए, जिसमें सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। अतिरक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आरडी धीमान ने बताया कि अब तक प्रदेश में 245 लाेगाें की जांच हुई है। जिसमें 242 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। इसके अलावा अब तक 3750 लाेगाें काे निगरानी पर रखे गए हैं, जिनमें से 1371 लाेगाें ने 28 दिन की अवधि पूरी कर ली है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।