प्रियंका गांधी: पहली कैबिनेट में लें ओपीएस, महिलाओं को 15 सौ रुपये और एक लाख नौकरियां देने पर फैसला #news4
December 12th, 2022 | Post by :- | 63 Views

शपथ ग्रहण समारोह में  चर्चा के बाद कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने सुखविंद्र सिंह सुक्खू और मुकेश अग्निहोत्री को निर्देश दिए कि पहली कैबिनेट में तीन बड़े फैसले लिए जाएं। इनमें ओपीएस की बहाली, महिलाओं को 1500 रुपये देने और प्रदेश के युवाओं को एक लाख नौकरियां देना शामिल है। इधर, समारोह में उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू और उनकी जोड़ी नंबर वन है। हिमाचल के विकास को आगे बढ़ाने का काम किया जाएगा।

वह जब मंत्री थे, तब सुखविंद्र सुक्खू कांग्रेस के अध्यक्ष रहे हैं।   उनका आपसी तालमेल बेहतर रहा है। मिलकर सब एकजुटता के साथ प्रदेश के हित में काम करेंगे। मुकेश ने कहा कि यह सरकार जनता की सरकार है, जनता के लिए है और जनता के काम को तेज गति से किया जाएगा। कहा कि सरकार पारदर्शिता और राजनीतिक इच्छाशक्ति के साथ काम करेगी। पार्टी का राष्ट्रीय नेतृत्व प्रदेश को आशीर्वाद दे रहा है। ऐसे में पार्टी नेतृत्व के मार्गदर्शन में हर गारंटी को पूरा किया जाएगा।

राष्ट्रीय अध्यक्ष मलिकार्जुन खरगे, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी हिमाचल प्रभारी राजीव शुक्ला सहित सभी नेताओं ने प्रदेश को आगे बढ़ाने के लिए निर्देश दिए हैं। प्रियंका गांधी और राहुल गांधी ने जनता के साथ हर गारंटी को पूरा करने का वादा किया है।

कैबिनेट में ओपीएस, 300 यूनिट बिजली के एक लाख रोजगार के अवसर, 1500 रुपये महिलाओं को देने के साथ अन्य निर्णय तय समय में करने का काम किया जाएगा। उन्होंने कहा कि देवभूमि ने भाजपा के विजय रथ को रोक दिया है। हिमाचल ने बता दिया है कि मुद्दों की अहमियत क्या है? कहा कि प्रदेश में भाजपा सरकार ने जो राजनीतिक मुकदमे कार्यकर्ताओं पर दर्ज किए हैं, उन्हें वापस करने के निर्देश दिए जाएंगे।

प्रतिभा ने पार्टी मजबूत की, हम सब हैं एकजुट
मुकेश ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष प्रतिभा सिंह ने कांग्रेस के नेतृत्व को मजबूत किया है। सभी नेताओं ने एकजुटता का प्रदर्शन करते हुए प्रदेश में तख्त और ताज बदलने का काम किया है। उन्होंने कहा कि दिवंगत वीरभद्र सिंह के सपनों को आगे बढ़ाएंगे। उन्होंने सभी विधायकों का भी आभार जताया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।