ऊना के चिंतपूर्णी में देह व्यापार का पर्दाफाश, निजी होटल से 3 महिलाओं समेत 4 गिरफ्तार #news4
May 12th, 2022 | Post by :- | 296 Views

चिंतपूर्णी : हिमाचल प्रदेश के जिला ऊना में चिंतपूर्णी पुलिस ने धार्मिक नगरी में देह व्यापार का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने बुधवार देर रात एसडीपीओ अम्ब इलमा अफरोज और चिंतपूर्णी थाना प्रभारी रोहिणी ठाकुर की अगुवाई में एक निजी होटल में दबिश देकर 3 महिलाओं समेत इस रैकेट को चलाने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। इन चारों को पुलिस ने नए बस अड्डे के समीप एक निजी होटल से पकड़ा है। यह सारी कार्रवाई एसडीपीओ (आईपीएस) इलमा अफरोज के नेतृत्व में बुधवार देर रात की गई। पुलिस ने रात करीब 11 बजे गुप्त तरीके से उक्त होटल में दबिश दी।

पुलिस ने फर्जी ग्राहक बनकर किया पर्दाफाश
पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि उक्त होटल में देह व्यापार हो रहा है और अन्य राज्यों से महिलाएं पहुंची हैं और इनकी गतिविधियां भी संदिग्ध हैं, ऐसे में पुलिस ने भी बिना समय गंवाए होटल में दबिश दी, जहां 3 महिलाएं मौजूद थीं। पहले पुलिस ने फर्जी ग्राहक बनाकर एक व्यक्ति को भेजा और 500 रुपए का नोट भी दिया। इसके तुरंत बाद पुलिस की टीम ने दबिश दे दी। पुलिस को देखकर 2 महिलाओं और एक व्यक्ति ने भागने की कोशिश की लेकिन मौके पर ही इन्हें पकड़ लिया गया। एक महिला के पास से पुलिस द्वारा फर्जी ग्राहक बनकर दिया गया 500 रुपए का नोट भी बरामद हो गया है। पुलिस चारों आरोपितों को थाने ले आई और यहां उनसे पूछताछ की जा रही है।

सरगना की पहचान के लिए जांच शुरू
पकड़ी गई महिलाएं पंजाब से संबंधित बताई जा रही हैं। पुलिस इस बात का भी पता लगा रही है कि महिलाओं को जबरन धंधे में तो नहीं धकेला गया है जबकि इस धंधे के मुख्य सरगना की पहचान के लिए पुलिस जांच कर रही है। इस संदर्भ में स्थानीय थाना में मामला दर्ज हो गया है। चिन्तपूर्णी में देह व्यापार को लेकर अक्सर सवाल उठते रहे हैं लेकिन अब पुलिस की बड़ी कार्रवाई से हड़कंप मच गया है। सूत्रों की मानें तो कई ऐसी महिलाएं यहां मौजूद हैं, जोकि किराए पर मकान लेकर यहां रह रही हैं और बाहरी राज्यों की लड़कियां यहां पहुंचाकर देह व्यापार कर रही हैं। एसपी अर्जित सेन ठाकुर ने बताया कि इस संबंध में विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।