प्रधानमंत्री मातृ वन्दना योजना के तहत 9 करोड़ 59 लाख रूपये की राशि प्रदान: राघव शर्मा
June 26th, 2019 | Post by :- | 179 Views

धर्मशाला : प्रधानमंत्री मातृ वन्दना योजना के तहत 25166 गर्भवती महिलाओं को अब तक लगभग 9 करोड़ 60 लाख रूपये की राशि प्रदान की जा चुकी है यह जानकारी अतिरिक्त उपायुक्त राघव शर्मा ने डीसी ऑफिस सभागार में योजना की समीक्षा बैठक के दौरान दी। उल्लेखनीय है कि इस योजना का शुभारंभ 1 जनवरी, 2017 किया गया था।

अतिरिक्त उपायुक्त ने इस योजना के तहत प्रत्येक गर्भवती महिला को 3 किस्तों में 5 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाती है जिसके तहत आंगनबाड़ी केन्द्र में गर्भवती माता के पंजीकरण पर पहली किस्त के रूप में एक हजार रूपये राशि प्रदान की जाती है जबकि दूसरी व तीसरी किस्त के रूप में दो-दो हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाती है।
उन्होंने आंगनबाड़ी केन्द्रों में आने वाली गर्भवती महिलाओं को सरकार द्वारा उनके कल्याण के लिए चलाई जा रही योजनाओं की संपूर्ण जानकारी देने के अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि उनके ध्यान में आया है कि बैंक अधिकारियों द्वारा जीरो बेलेंस खाते नहीं खोले जा रहे है उन्होंने बैंक अधिकारियों से ऐसी महिलाओं के जीरो बेलेंस खाते खोलने तथा उनके सही खाते में राशि के भुगतान को सुनिश्चित बनाने के भी निर्देश दिए।
ज़िला में 748 सशक्त महिला केन्द्र
इसके पश्चात उन्होंने सशक्त महिला योजना के कार्यान्वयन की भी समीक्षा की। उन्होंने जानकारी दी कि इस योजना के तहत ज़िला में 748 सशक्त महिला केन्द्र स्थापित किए गये हैं जिसके लिए प्रत्येक सुपरवाइजर को सशक्त स्त्री अधिकारी का दर्जा दिया गया है।


उन्होंने बताया कि इस योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण स्तर पर महिलाओं को सशक्त बनाना है । उन्होेंने बताया कि योजना के सफल संचालन के लिए सभी उपमंडलों में एसडीएम की अध्यक्षता में बैठकों का आयोजन किया जा चुका है। उन्होंने सभी विभागीय अधिकारियों तथा आंगनबाड़ी कर्मियों कोे सरकार द्वारा महिलाओं के कल्याण के लिए संचालित योजनाओं का लाभ लाभार्थियों तक पहुंचाने के लिए कारगर कदम उठाने के निर्देश दिए।

पोषण अभियान के तहत प्रथम बैठक आयोजित
अतिरिक्त उपायुक्त ने ज़िला में पोषण अभियान को गति प्रदान करने के लिए इसके कार्यान्वयन के लिए आयोजित प्रथम बैठक में बताया कि प्रदेश के 5 ज़िलों में इस योजना को 8 मार्च, 2018 से लागू किया गया था जबकि कांगड़ा ज़िला को भी अब अन्य शेष 7 ज़िलोें के साथ इस योजना में शामिल किया गया है। उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम के तहत लोगों को कुपोषण के प्रति जागरूक करना है। इइसके अतिरिक्त बच्चों के स्वास्थ्य की देखभाल, भोजन, लड़कियों की शिक्षा सहित अन्य महत्वपूर्ण पहलुओं पर जागरूक करना है।
बैठक में ज़िला परिषद के उपाध्यक्ष विशाल चंबियाल, एसडीएम कांगड़ा जतिन लाल, ज़िला कार्यक्रम अधिकारी रणजीत सिंह, ज़िला योजना अधिकारी रविन्द्र कटोच, ज़िला टीबी अधिकारी आरके सूद सहित ज़िला के समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारी व अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।