हर सरकारी स्कूल में वर्षा जल संग्रहण लक्ष्यः वीरेंद्र कंवर
June 22nd, 2019 | Post by :- | 135 Views

एनएसएस की वार्षिक बैठक में 101 स्कूलों के प्रधानाचार्य व कार्यक्रम अधिकारी हुए शामिल
ऊना – प्रदेश सरकार ने राज्य के प्रत्येक सरकारी स्कूल में वर्षा जल संग्रहण का लक्ष्य रखा गया है। यह बात ग्रामीण विकास, पंचायती राज, पशु एवं मत्स्य पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने आज राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला समूर कलां में एनएसएस की प्रथम चरण की वार्षिक बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। इस बैठक में 101 स्कूलों के प्रधानाचार्य व कार्यक्रम अधिकारी शामिल हुए, जिनमें कांगड़ा के 20, हमीरपुर के 22 तथा ऊना के 59 स्कूल शामिल हैं।
बैठक में वीरेंद्र कंवर ने बेहतर जल प्रबंधन की जरूरत पर बल देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2022 तक नए भारत का निर्माण करने का संकल्प लिया है। जहां पर सबके लिए घर, रसोई गैस व पीने का पानी होगा। उन्होंने कहा कि हिमालय क्षेत्र में पानी की की कमी है, लेकिन वर्षा जल संग्रहण से पानी की समस्या से निपटा जा सकता है। इसके लिए आवश्यक है कि हम स्कूलों व अपने घरों में बरसात का पानी जमा करें और इस पानी को अपने दैनिक कामों के लिए प्रयोग करें। उन्होंने कहा कि इस बारे में स्कूली विद्यार्थियों को जागरूक करना भी बेहद आवश्यक है ताकि आने वाली पीढ़ी को पानी के महत्व के बारे में बताया जा सके। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने पहले स्वच्छता को जन आंदोलन बनाया और अब जल संग्रहण को लेकर मिशन मोड पर कार्य किया जा रहा है।
ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री ने कहा कि सेवा प्राचीन भारत की परंपरा रही है, इसलिए बच्चों में सेवा भाव पैदा करना बेहद आवश्यक है। राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) से विद्यार्थियों में सेवा की भावना आती है और उन्हें समाज सेवा की प्रेरणा मिलती है। विद्यार्थी अपने गुरू को ऊंचा दर्जा व मान-सम्मान देते हैं, इसलिए शिक्षकों को अपने विद्यार्थियों को समाज सेवा के लिए प्रेरित करना चाहिए, ताकि वह देश के बेहतर नागरिक बन सकें।
एनएसएस के राज्य समन्वयक दिलीप ठाकुर ने बैठक में बताया कि हिमाचल के 790 स्कूलों में राष्ट्रीय सेवा योजना चलाई जा रही है और इस योजना के तहत लगभग 70 हज़ार वॉलंटियर्स हैं। उन्होंने कहा कि वार्षिक बैठक में एनएसएस के वर्ष भर चलने वाली गतिविधियों का खाका खींचा जाता है।
वंदे मातरम प्रतियोगिता के लिए 1 लाख देने की घोषणा
इस अवसर पर ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर ने ऊना ज़िला में वंदे मातरम प्रतियोगिता के लिए 1 लाख रुपए देने की घोषणा की। उन्होंने बताया कि यह प्रतियोगिता स्कूलों में प्राथमिक, माध्यमिक व वरिष्ठ माध्यमिक श्रेणियों में ब्लॉक व जिला स्तर पर आयोजित की जाएगी। प्रतियोगिता के विजेताओं को इनाम भी प्रदान किए जाएंगे। साथ ही उन्होंने जानकारी दी कि ऊना सुपर 50 के लिए मेधावी छात्रों का चयन कर लिया गया है। इसके लिए 75 प्रतिशत से अधिक अंक हासिल करने वाले छात्रों की प्रतियोगी परीक्षा करवाई गई।
इससे पहले राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला समूर कलां के प्रधानाचार्य केशव देव शर्मा ने मुख्यतिथि सहित सभी का स्वागत किया। इस अवसर पर डाइट प्रिंसिपल देवेंद्र चौहान, कुटलैहड़ मंडल भाजपा के अध्यक्ष मनोहर लाल, महामंत्री मास्टर तरसेम लाल, पंचायत उप प्रधान संसार चंद सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।