सरकार को जगाने के लिए आज हर वर्ग सड़क पर उतरने को मजबूर : राजेंद्र राणा #news4
August 14th, 2022 | Post by :- | 48 Views

हमीरपुर : सुजानपुर के विधायक व प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष राजेंद्र राणा ने कहा है कि प्रदेश की भाजपा सरकार को नींद से जगाने और अपने हकों की लड़ाई के लिए हर वर्ग को सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर होना पड़ा है लेकिन इसके बावजूद सरकार का रवैया अत्यंत उदासीन है जो बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। आज यहां जारी एक बयान में राजेंद्र राणा ने कहा कि इस सरकार से समाज का हर वर्ग परेशान हैं। उन्होंने कहा कि कर्मचारी, आउट सोर्स कर्मी, करुणामूलक आधार पर रोजगार मांग रहे परिवार, किसान व बागवान सरकार के खिलाफ सड़कों पर हैं। विधानसभा के बाहर उन्हें धरना-प्रदर्शन करने को मजबूर होना पड़ा है लेकिन सरकार का रवैया निराशाजनक है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी समाज के इन सब वर्गों के साथ समर्थन में डटकर खड़ी है और प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने पर इन सब वर्गों को न्याय प्रदान किया जाएगा।

राजेंद्र राणा ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार ने 8 साल पहले देश की जनता से वायदा किया था कि वह प्रत्येक वर्ष 2 करोड़ युवाओं को नौकरी देगी लेकिन यह वायदा खोखला साबित हुआ है। देश का युवा डिग्री लेकर सड़कों पर घूम रहा है। उसके पास रोजी-रोटी कमाने के लिए कोई धंधा नहीं है तथा भाजपा ने युवाओं को हाथ में कटोरा थमाने के लिए मजबूर कर दिया है। आज महंगाई चरम सीमा पर पहुंच गई है। लोगों को दो वक्त का गुजर-बसर करना मुश्किल हो गया है। जीएसटी की मार से जनता परेशान हैं। आटा, घी, पनीर, दूध, लस्सी तक पर जीएसटी थोप दी गई है। महंगाई लगातार बढ़ रही है और लोगों की आय घटती जा रही है।

राजेंद्र राणा ने कहा कि महंगाई, गरीबी, बेरोजगारी से त्रस्त जनता अब केंद्र व राज्य सरकार को अर्श से फर्श पर लाकर पटकेगी। उन्होंने कहा कि जो सरकार गरीबों की नहीं सुनती, जिस सरकार ने अन्नदाता को पीड़ित किया, शोषित किया वह सरकार रक्षक नहीं भक्षक है। उन्होंने कहा कि स्थिति यह हो गई है कि सत्ता के नशे में केंद्र की अहंकारी सरकार अपने राजनीतिक विरोधियों को परेशान करने के लिए ईडी का इस्तेमाल कर रही हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।