घर में रोज बनानी चाहिए रंगोली, धन से भर जाएगी झोली #news4
June 22nd, 2022 | Post by :- | 72 Views
Benefits of making Rangoli: अक्सर दीपावली पर या किसी त्योहार एवं मांगलिक अवसरों पर मांडना और रंगोली बनाई जाती है। वास्तु शास्त्र में मांडना और रंगोली का बहुत महत्व बताया गया है। आओ जानते हैं कि प्रतिदिन घर में रंगोली बनाने से क्या होगा।
1. विभिन्न रंगों और फूलों से बनाई गई रंगोली आपके घर और आसपास के वातावरण में सकारात्मक उर्जा का संचार करती है, जिससे मन प्रसन्न और वातावरण बेहद सकारात्मक होता है। इसका असर भी आपकी सेहत पर पड़ता है।
2. भारत में मांडना या रंगोली विशेषतौर पर होली, दीपावली, नवदुर्गा उत्सव, महाशिवरात्रि और संजा पर्व पर बनाया जाता है। मांडना या रंगोली को श्री और समृद्धि का प्रतीक माना जाता है।
3. यह माना जाता है कि जिसके घर में प्रतिदिन रंगोली का सुंदर अंकन होता रहता है, वहां लक्ष्मी निवास करती है।
4. पूजा घर और मुख्‍य द्वार पर शुभ चिन्हों से रंगोली बनाने से दैवीय शक्तियां आ‍कर्षित होती हैं। इससे घर में खुशियां और आनंद का वातावरण विकसित होता है।
5. मान्यता अनुसार रंगोली की आकृतियां घर से बुरी आत्माओं एवं दोषों को दूर रखती है।
रंगोली बनाने के 5 फायदे-
1 रंगोली बनाना एक कला है और जो लो कलाप्रिय हैं वे इसे शौक से बनाते हैं। ऐसे में रंगोली बनाने का पहला बड़ा फायदा तो यह है कि आप इसे बनाते समय बेहद सकारात्मक महसूस करते हैं और यह प्रक्रिया आपके तनाव को छू मंतर कर देती है।
2 रंगोली बनाते समय आपकी अंगुली और अंगूठा मिलकर ज्ञानमुद्रा बनाते हैं, जो आपके मस्तिष्क को ऊर्जावान और सक्रिय बनाने के साथ-साथ बौद्ध‍िक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं।
3 एक्यूप्रेश के लिहाज से भी यह मुद्रा आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद प्रभावी है। यह आपको हाई ब्लडप्रेशर से बचाती है और मानसिक व आत्म‍िक तौर पर शांति प्रदान करती है।
4 रंगों के सकारात्मक एवं नकारात्मक प्रभाव को विज्ञान और विभिन्न चिकित्सा पद्धतियों ने माना है। जब आप रंगों के संपर्क में आते हैं, तो इनसे उत्सर्जित ऊर्जा आप पर प्रभाव डालती है, जिससे कई तरह की मानसिक और शारीरिक समस्याओं का इलाज संभव है।
5 विभिन्न रंगों और फूलों से बनाई गई रंगोली आपके घर और आसपास के वातावरण में सकारात्मक उर्जा का संचार करती है, जिससे मन प्रसन्न और वातावरण बेहद सकारात्मक होता है। इसका असर भी आपकी सेहत पर पड़ता है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।