शिक्षा विभाग के जलवाहकों व प्री-प्राइमरी शिक्षकों को बड़ा तोहफा, पढ़ें मंत्रिमंडल के अहम फैसले #news4
September 22nd, 2022 | Post by :- | 69 Views

शिमला : मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्‍यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति के तहत सरकारी प्राथमिक स्‍कूल में 3 से 6 वर्ष की आयु वर्ग के बच्‍चों के लिए प्रारंभिक बचपन देखभाल और शिक्षा शिक्षक योजना-2022 को मंजूदी दी गई। इस योजना में प्रारंभिक वर्षों में मस्तिष्क की उचित देखभाल और उत्तेजना की परिकल्पना की गई है ताकि स्वस्थ मस्तिष्क विकास और विकास सुनिश्चित किया जा सके। उन जिलों और स्थानों पर विशेष ध्यान और प्राथमिकता दी जाएगी जो विशेष रूप से सामाजिक-आर्थिक रूप से वंचित हैं। मंत्रिमंडल ने शिक्षा विभाग में कार्यरत जल वाहकों की सेवाओं को नियमित करने का भी निर्णय लिया, जिन्होंने 31 मार्च, 2022 और 30 सितम्बर, 2022 तक 11 वर्षीय सेवाएं (अंशकालिक जल वाहक और दैनिक वेतनभोगी के रूप में) की हैं।मंत्रिमंडल ने प्री-प्राइमरी शिक्षकों को नियुक्त करने की नीति को मंजूरी दी है। शिक्षा विभाग उनकी भर्ती के लिए आर एंड पी नियम बनाएगा और जब तक आर एंड पी नियमों को अंतिम रूप नहीं दिया जाता है, तब तक विभाग एचपीएसईडीसी के माध्यम से आऊटसोर्सिंग करके ट्यूटर्स को संलग्न करेगा। जिन उम्मीदवारों ने नर्सरी अध्यापक शिक्षा/प्री स्कूल शिक्षा/प्रारंभिक बाल्यावस्था शिक्षा कार्यक्रम में एक वर्षीय डिप्लोमा किया है, इन उम्मीदवारों के लिए विभाग उन्हें योग्य बनाने के लिए मानदंडों के अनुसार ब्रिज पाठ्यक्रम तैयार करने का प्रयास करेगा। शिक्षक को प्रति माह 9000 रुपए की राशि का भुगतान किया जाएगा।

खाद्य तेल पर सबसिडी बढ़ाई
मंत्रिमंडल ने उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए सितम्बर, 2022 से मार्च, 2023 तक सात महीने के लिए खाद्य तेल (फोर्टिफाइड सरसों तेल और फोर्टिफाइड सोया रिफाइंड तेल) पर ओटीएनएफएसए लाभार्थियों के लिए सबसिडी को 5 रुपए से बढ़ाकर 10 रुपए प्रति लीटर और एनएफएसए लाभार्थियों के लिए 10 रुपए से बढ़ाकर 20 रुपए प्रति लीटर करने को मंजूरी दी। मंत्रिमंडल ने राज्य भर में 499 वन विश्राम गृहों और निरीक्षण झोपड़ियों के समुचित रखरखाव और खानपान के लिए वन विभाग में 499 पैरा कुक और 563 पैरा हैल्पर्ज की नियुक्त करने का निर्णय लिया। मंत्रिमंडल ने ऊर्जा निदेशालय में प्रस्तावित पीएमयू प्रतिष्ठान की संरचना और कार्यप्रणाली के साथ-साथ समय पर निगरानी, कार्यान्वयन और सत्यापन के लिए लगभग 2000 करोड़ रुपए की कुल लागत के साथ विश्व बैंक द्वारा वित्त पोषित कार्यक्रम ‘हिमाचल पावर सैक्टर डिवैल्पमैंट प्रोग्राम’ को मंजूरी दी।

स्वास्थ्य संस्थान अपग्रेड, नए भी खुलेंगे
मंत्रिमंडल ने सोलन जिले के 50 बिस्तरों वाले सिविल अस्पताल धर्मपुर में चिकित्सकों के 3 पद, पैरा मेडिकल स्टाफ के 2 पद और नर्सों के 6 पद सृजित करने का निर्णय लिया। मंत्रिमंडल ने मंडी जिला के धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र के तौरखोला में आवश्यक पदों सहित नया आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केन्द्र खोलने का भी निर्णय लिया। मंत्रिमंडल ने ग्राम पंचायत टीहरा के सकोह और मंडी जिला के धर्मपुर क्षेत्र के पपलोग में नया आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केन्द्र खोलने तथा विभिन्न श्रेणियों के 6 पदों के सृजन और भरने को स्वीकृति दी। मंत्रिमंडल ने मंडी जिला के विकास खंड गोहर के ग्राम पंचायत बारा में कृषि विक्रय केन्द्र खोलने का निर्णय लिया। बैठक में कांगड़ा जिले के नागरिक अस्पताल ज्वाली व मंडी जिले के नागरिक अस्पताल गोहर को 50 बिस्तरों से स्तरोन्नत कर 100 बिस्तरों वाले अस्पताल के साथ-साथ आवश्यक पदों के सृजन और भरने को भी मंजूरी दी गई। इसी तरह मंडी जिले के गांव स्योह में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र को 30 बिस्तरों वाले सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चौक को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्तरोन्नत करने का निर्णय लिया गया। बैठक में मंडी जिले की ग्राम पंचायत सरी के गांव फीहड़, ग्राम पंचायत चौकी के गांव चौकी और ग्राम पंचायत गवैला के गांव छेज में आवश्यक पदों के सृजन एवं भरने के साथ स्वास्थ्य उपकेन्द्र खोलने को भी स्वीकृति प्रदान की गई। इसी तरह मंडी जिले की निहरी तहसील के गांव पौड़ाकोठी में आवश्यक पदों के सृजन एवं भरने के साथ प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खोलने, सुंदरनगर विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत छातर के गांव छातर में नया स्वास्थ्य उप केन्द्र खोलने का निर्णय लिया।

ग्रामीण विकास विभाग में होगी चालकों की भर्ती, यहां खुलेंगी नई उपतहसीलें
बैठक में ग्रामीण विकास विभाग में दैनिक वेतन भोगी आधार पर चालकों के 5 पदों को भरने का निर्णय लिया गया। बैठक में सोलन जिला के सबाथु, शिमला जिला के कोटी, बलदेयां व ठियोग विधानसभा क्षेत्र के मतियाना, बिलासपुर जिले के तलाई में नई उपतहसीलें खोलने तथा विभिन्न श्रेणियों के 12-12 पदों के सृजन और भरने को स्वीकृति प्रदान की। बैठक में हमीरपुर जिले की बड़सर तहसील के घंगोट में नया पटवार वतृ खोलने को भी मंजूरी दी गई।मंत्रिमंडल ने सिरमौर जिले के ददाहू में आवश्यक पदों के सृजन एवं भरने के साथ ही नया खंड विकास कार्यालय खोलने को भी मंजूरी दी। बैठक में कांगड़ा जिले के पशु चिकित्सा अस्पताल इंदौरा को वैटर्नरी पॉलीक्लीनिक में स्तरोन्नत करने के साथ-साथ आवश्यक पदों के सृजन और भरने का निर्णय लिया गया। शिमला जिले के पीरन स्थित पशु औषधालय को विभिन्न श्रेणियों के 3 पदों के सृजन एवं भरने के साथ पशु चिकित्सालय में स्तरोन्नत करने व कसुम्पटी विधानसभा क्षेत्र के नाला गांव में आवश्यक पदों के सृजन और भरने के साथ नया पशु औषधालय खोलने का निर्णय लिया गया।

आईटीआई व राजकीय बहुतकनीकी संस्थान खोलने को मंजूरी
मंडी जिले की संधोल तहसील के कुज्जाबल्ह में विभिन्न श्रेणियों के 26 पदों के सृजन एवं भरने के साथ-साथ नया औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र में टिहरा और चोलथरा के बीच एक नया राजकीय बहुतकनीकी संस्थान खोलने और विभिन्न श्रेणियों के 42 पदों को सृजित कर भरने का निर्णय लिया गया। बीफार्मेसी कोर्स को भी शामिल किया जा सकता है। मंत्रिमंडल ने कांगड़ा जिले के कांगड़ा विधानसभा क्षेत्र में जल शक्ति विभाग का नया मंडल खोलने और आवश्यक पदों को सृजित कर भरने को अपनी स्वीकृति प्रदान की। बैठक में ऊना जिले के बसाल में कृषि विषय वाद् विशेषज्ञ का कार्यालय खोलने और विभिन्न श्रेणियों के 6 पदों के सृजन एवं भरने को भी स्वीकृति प्रदान की गई।

मंडी के धर्मपुर में खुलेगा अग्निशमन उप केन्द्र 
मंत्रिमंडल ने हिमाचल प्रदेश में सड़क एवं अन्य ढांचागत विकास निगम के लिए विश्व बैंक द्वारा वित्तपोषित परियोजनाओं के घटक के अनुसार परिवहन विभाग के सुदृढ़ीकरण के लिए हिमाचल प्रदेश मोटर वाहन प्रशासन की स्थापना को स्वीकृति प्रदान की, जो सभी नागरिक सेवाओं के लिए वन-स्टॉप सैंटर होगा और नागरिकों के परिवहन संबंधी सभी आवश्यक अनुरोधों जैसे पंजीकरण, लाइसैंस, उत्सर्जन नियंत्रण, वाहन परीक्षण आदि को पूरा करेगा। बैठक में सोलन जिले के दाड़लाघाट में नया खंड विकास कार्यालय खोलने के साथ-साथ आवश्यक पदों के सृजन और भरने का निर्णय लिया।  मंडी जिले के विकास खंड बालीचौकी में कृषि विषय वाद् विशेषज्ञ का कार्यालय खोलने और विभिन्न श्रेणियों के 6 पदों के सृजन एवं भरने को स्वीकृति दी। मंत्रिमंडल ने मंडी जिला के धर्मपुर में अग्निशमन उप केन्द्र खोलने और आवश्यक पद सृजित कर भरने को भी स्वीकृति प्रदान की।

यहां खुलेंगे नए डिग्री कॉलेज
बैठक में सोलन जिला के चंडी में, कांगड़ा जिला के चढियार, शिमला जिला के जलोग, हमीरपुर जिला के लम्बलू और कांगड़ा जिला के कोटला में नए डिग्री कॉलेज खोलने को स्वीकृति प्रदान की। बैठक में इन नए डिग्री कॉलेजों के सुचारू संचालन के लिए प्रत्येक कॉलेज में 16 पद सृजित कर भरने तथा कॉलेज में बुनियादी ढांचा निर्मित करने के लिए प्रत्येक कॉलेज को 5 करोड़ रुपए का प्रावधान प्रदान करने को भी स्वीकृति प्रदान की गई।

ये स्कूल किए अपग्रेड, भरे जाएंगे 195 पद
बैठक में बिलासपुर जिले की राजकीय उच्च पाठशाला मलोखर और मरोतन, मंडी जिला के राजकीय उच्च विद्यालय मोहलू खमराधा, कांगड़ा जिला के राजकीय उच्च विद्यालय जन्दपुर और शिमला जिले के राजकीय उच्च विद्यालय पटगेहड़, मुण्डू, महोग और बन्नी को वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं में, बिलासपुर जिले की राजकीय मांध्यमिक पाठशाला डडोह, मुहेर, मंडी जिला की राजकीय माध्यमिक पाठशाला उत्रापर, दुहम और समतैहण, शिमला जिले की राजकीय माध्यमिक पाठशाला मतियूर, सोलन जिला की राजकीय माध्यमिक पाठशाला कोटी और घयैण और हमीरपुर जिले की राजकीय माध्यमिक पाठशाला जोल को राजकीय उच्च पाठशाला में स्तरोन्नत करने, मंडी जिला की राजकीय प्राथमिक पाठशाला काशला और शिमला जिले की राजकीय प्राथमिक पाठशाला ददुजा को राजकीय माध्यमिक पाठशाला में स्तरोन्नत करने और विभिन्न श्रेणियों के 133 पद सृजित कर भरने की स्वीकृति प्रदान की गई। वहीं मंडी जिला की राजकीय प्राथमिक पाठशाला मन्दोह, सिरमौर जिले की राजकीय प्राथमिक पाठशाला लाना मोही, कांगड़ा जिला की राजकीय प्राथमिक पाठशाला लोट को राजकीय माध्यमिक पाठशाला में स्तरोन्नत करने तथा आवश्यक पद सृजित कर भरने को स्वीकृति प्रदान की। हमीरपुर जिला की राजकीय उच्च पाठशाला लुद्दर को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला तथा राजकीय माध्यमिक पाठशाला खतरवाड़ तथा नगरोटा गजियां को राजकीय उच्च पाठशाला में स्तरोन्नत करने तथा विभिन्न श्रेणियों के 22 पद सृजित कर भरने को स्वीकृति प्रदान की। कुल्लू जिले की राजकीय उच्च पाठशाला खोखण को वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला, राजकीय माध्यमिक पाठशाला नगोठी और नरोगी को उच्च पाठशाला में स्तरोन्नत करने तथा आवश्यक पद सृजित कर भरने को स्वीकृति प्रदान की। कांगड़ा जिले की राजकीय उच्च पाठशाला तैहलियां और बैरघाट को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला में, राजकीय माध्यमिक पाठशाला चहड़ी तथा बलोल को राजकीय उच्च पाठशाला में स्तरोन्नत करने, मंडी जिले की राजकीय प्राथमिक पाठशाला भलवार, तुंगाधार, रूहमाणी और डगैल को राजकीय माध्यमिक पाठशाला में स्तरोन्नत करने तथा विभिन्न श्रेणियों के 40 पद सृजित कर भरने का निर्णय लिया।

इन स्कूलों में शुरू होंगी साइंस और कॉमर्स की कक्षाएं
बैठक में विद्यार्थियों की सुविधा के लिए श्री नैना देवी जी में प्रारम्भिक शिक्षा खंड कार्यालय स्वारघाट को विभाजित कर नया प्रारम्भिक शिक्षा खंड कार्यालय बनाने को भी स्वीकृति दी गई। मंडी जिला की राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कुटाहची और चच्योट में विज्ञान कक्षाएं व राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सेरी और सधोट में विज्ञान और वाणिज्य कक्षाएं, बिलासपुर जिला के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कोसरियां और सलवाड़ में विज्ञान कक्षाएं, कांगड़ा जिले की राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशााल कुहना में वाणिज्य कक्षाएं, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला गियोरा में विज्ञान कक्षाएं तथा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला धनेटी में विज्ञान और वाणिज्य कक्षाएं आरम्भ करने को स्वीकृति प्रदान की। मंडी जिले की राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला तुलाह और घराण में विज्ञान कक्षाएं, बिलासपुर जिले के श्री नैना देवी जी विधानसभा क्षेत्र की राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला रानी कोटला, स्वारघाट और टोबा में विज्ञान कक्षाएं शुरू करने तथा आवश्यक पद सृजित कर भरने व कांगड़ा जिला की राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पुडवा, कांडी धोलरन और ऊपरली कोठियां में वाणिज्य कक्षाएं शुरू करने को स्वीकृति प्रदान की गई।

यहां स्थापित हाेंगे अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय
बैठक में कांगड़ा जिले के नूरपुर, देहरा और पालमपुर में तथा सिरमौर जिला के पांवटा साहिब, शिमला जिला के रोहड़ू में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय स्थापित करने तथा प्रत्येक न्यायालय में विभिन्न श्रेणियों के 13 पद सृजित कर भरने को स्वीकृति प्रदान की गई। बैठक में मंडी जिला के राजकीय नर्सिंग कॉलेज नेरचौक में विभिन्न श्रेणियों के 5 पद भरने को स्वीकृति प्रदान की गई।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।