बीआरओ के राइडर्स उमलिग-ला दर्रे के लिए रवाना #news4
October 16th, 2021 | Post by :- | 179 Views

मनाली : आजादी के अमृत महोत्सव के बीच बीआरओ के राइडर्स देशवासियों को स्वच्छता का संदेश देने, उपलब्धियां बताने और सड़क नियमों का पालन करने के लिए प्रेरित करने निकल पड़े हैं। 14 अक्टूबर को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दिल्ली में हरी झंडी दिखाकर इन्हें रवाना किया था।

14 को चंडीगढ़ में रुकने के बाद 15 को वह मनाली पहुंचे। बीआरओ कमांडर कर्नल उमा शंकर के नेतृत्व में बीआरओ के इन राइडर्स का स्वागत किया गया। शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे अलेउ के 38 बीआरटीएफ कार्यालय में राइडर्स का मनोबल बढ़ाया गया। सुबह 10 बजे अटल टनल रोहतांग के नार्थ पोर्टल में बीआरओ 70 आरसीसी की टीम ने इन राइडर्स का स्वागत किया। अटल टनल पहुंचते ही नार्थ पोर्टल का क्षेत्र भारत माता की जय व बीआरओ की जय के नारे से गूंज उठा।

मोटर साइकिल अभियान का नेतृत्व कर रहे कर्नल कमलेश बिष्ट ने अटल टनल के नार्थ पोर्टल में दैनिक जागरण के साथ बातचीत में बताया कि बीआरओ आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। उनका 10 सदस्यों का दल दिल्ली से लेह के लिए निकला है। उन्होंने बताया कि बीआरओ ने पूर्वी लद्दाख के उमलिग-ला दर्रे पर दुनिया की सबसे ऊंची मोटर योग्य सड़क 19,300 फीट की ऊंचाई पर तैयार की है। यह माउंट एवरेस्ट के बेस कैंप से भी ऊंचा है। यहां पहुंचकर राइडर तिरंगा फहराएंगे। उन्होंने बताया कि वह बीआरओ की उपलब्धियां बताने के साथ साथ देशवासियों को स्वच्छता सहित सड़क सुरक्षा का भी संदेश दे रहे हैं। बीआरओ कमांडर कर्नल उमा शंकर ने मोटर साइकिल अभियान दल अटल टनल के नार्थ पोर्टल से हरी झंडी देकर लेह के लिए रवाना किया। कर्नल कमलेश बिष्ठ के नेतृत्व में कैप्टन श्रेष्ठ माथुर, सुमित, रिजवान अहमद, रोबिन चौहान गुरु प्रताप सिंह, महिपाल पटीकरा, अन परासर, मोरे विजय, एम पिन जारी और हितेश कुमार टीम शामिल हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।