जनभागीदारी से पाएंगे मंडी को टॉप 100 स्वच्छ शहरों में लाने का लक्ष्य : ऋग्वेद ठाकुर
September 24th, 2019 | Post by :- | 204 Views

उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने मंडी शहर को देश के टॉप 100 स्वच्छ शहरों में लाने का लक्ष्य पाने के लिए सभी से सहयोग की अपील की है। उन्होंने कहा कि मंडी को जनवरी 2020 तक स्वच्छता इंडेक्स में पहले 100 शहरों में शामिल करवाने का लक्ष्य हासिल करने के लिए जनभागीदारी जरूरी है। टॉप 100 में आने के लिए आवश्यक है कि शतप्रतिशत कूड़ा एकत्रण और घर पर ही सूखा और गीला कूड़ा अलग अलग रखने की व्यवस्था को सौ फीसदी लागू किया जाए। उपायुक्त स्कूली बच्चों को स्वच्छता अभियान से जोडऩे के प्रयासों की कड़ी में मंगलवार को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक कन्या पाठशाला मंडी में आयोजित कार्यकम में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि मंडी शहर के सभी स्कूलों में कार्यक्रम आयोजित कर बच्चों को नगर परिषद की सफाई व्यवस्था में सहयोग के लिए जागरूक किया जाएगा। प्रशासन ने स्थानीय लोगों, सामाजिक संस्थाओं को इस अभियान में शामिल किया है, अब स्कूली बच्चों को भी अभियान से जोडऩे पर जोर दिया जा रहा है ताकि स्वच्छता व्यवस्था में वे सहयोग कर सकें।
स्कूल में एकत्रित प्लास्टिक से होगी आय
ऋग्वेद ठाकुर प्लास्टिक के कूड़े को रिसाईकिल कर उसे फिर से प्रयोग में लाने बारे भी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि टॉफी व बिस्कुट के रैपर को अलग से प्लास्टिक की बोतल में भर कर रखें तथा ज्यादा मात्रा में होने पर स्कूल में जमा करवाएं । उन बोतलों को कमेटी के कर्मचारी एकत्र कर उसे पुन: प्रयोग के लिए भेजेंगे। स्कूल में एकत्रित किए गए प्लास्टिक से जो आय होगी उसे पाठशाला के विकास के लिए खर्च किया जायेगा।
उन्होंने सभी पाठशालाओं के प्रधानाचार्यों से आग्रह किया कि वे अपनी-अपनी पाठशालाओं में प्रात:कालीन सभाओं में ठोस व तरल कूड़े के सही निष्पादन के बारे में बच्चों को जानकारी दें तथा पाठशालाओं में बाहर से आने वाले प्लास्टिक के कचरे को एक जगह एकत्रित करके उसे रिसाईकिल के लिए भेजें ताकि स्कूल प्लास्टिक मुक्त व स्वच्छ हो। उन्होंने कहा कि हर घर, हर परिवार का कूड़ा एकत्रण की मौजूदा व्यवस्था से जुडऩा जरूरी है। इसके साथ ही लोगों को गलने वाले और नहीं गलने वाले कूड़े को घर पर ही अलग अलग रखने के लिए तैयार करना महत्वपूर्ण काम है, ताकि घरों से कूड़ा अलग अलग उठा कर उसका बेहतर निपटारा किया जा सके। यह भी सुनिश्चित करना होगा कि सड़कों के किनारे कूड़े के ढेर न हों और न ही नालियां कचरे से चोक हों। नदियों में गंदगी न जाए। क्षेत्र को बाह्य शौच मुक्त बनाने में जो व्यवहारिक अड़चनें हैं उनका भी निदान तय हो। इस अवसर पर राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला, मंडी की प्रधानाचार्य डा. प्रतिभा वैद्य, नगर परिषद मंडी के सचिव बी.आर नेगी, मेरे अपने संस्था के संयोजक विनोद बहल, सह संयोजक अनिल शर्मा, सदस्य हेमंत शर्मा व ज्योतसना टंडन, अजय कुमार के अतिरिक्त पाठशाला के अध्यापक व बच्चे उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।