कांगड़ा में बढ़ते कोरोना मामलों ने बढ़ाई चिंता, 1952 संक्रमित मरीजों में मात्र 10 अस्पतालों में भर्ती #news4
January 14th, 2022 | Post by :- | 117 Views

धर्मशाला : प्रदेश के सबसे बड़े जिला कांगड़ा में कोरोना के बढ़ते मामलों ने जिला प्रशासन सहित स्वास्थ्य विभाग की चिंताएं बढ़ा दी हैं। राहत की बात है कि जिला में कुल संक्रमित 1952 मरीजों में से मात्र 10 ही मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं। वहीं जिला में प्रतिदिन 300 से अधिक मामले लगातार सामने आ रहे हैं। हालांकि स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि बढ़ते मामलों के बावजूद स्वास्थ्य विभाग के पास पर्याप्त दवाइयां जिला में उपलब्ध हैं। संक्रमित होने के 12 घंटे के भीतर स्वास्थ्य विभाग द्वारा मरीज को आवश्यक दवाइयां उपलब्ध करवाई जा रही हैं। साथ ही संक्रमित मरीज के साथ केंद्र सरकार की गाइडलाइन अनुसार एक आशा वर्कर, आंगनबाड़ी वर्कर, हेल्थ वर्कर और एक डॉक्टर को अटैच किया जाता है, जिससे कि मरीज को दवाइयों आदि की कोई असुविधा न हो।

कोरोना संक्रमित मरीजों को सरकार की ओर से संजीवनी किट वितरित करने की योजना है। इन किटस को पहले शिमला में असेंबल किया जा रहा था, लेकिन अब सरकार ने प्रदेश को तीन जोन शिमला, मंडी व कांगड़ा में बांट दिया है तथा संजीवनी किटस के लिए जिला को कुछ सामान भी उपलब्ध करवाया गया है। यहां असेंबल की जाने वाली संजीवनी किटस जिला कांगड़ा सहित चंबा, हमीरपुर व ऊना जिला को भी उपलब्ध करवाने की प्रक्रिया जल्द शुरू की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार पहली जनवरी से अब तक जिला में 62 के करीब स्वास्थ्य कर्मचारी संक्रमित हो चुके हैं, जिनमें 42 के करीब डॉक्टर्स हैं, यह सभी स्वास्थ्य कर्मी स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं और जल्द अपनी डयूटी ज्वाइन करेंगे। इसके अलावा जिला में ऑक्सीजन युक्त बैड की व्यवस्था उपलब्ध है, हालांकि वर्तमान में संक्रमित मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं पड़ रही है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।