सिरमौर में नेशनल हाईवे 907ए के किनारे लगाए जा रहे हैं रोलर क्रैश बैरियर #news4
February 9th, 2022 | Post by :- | 109 Views

नाहन : देश में पहली बार नेशनल हाईवे के किनारे क्रैश बैरियर की जगह अब रोलर क्रैश बैरियर लगाए जा रहे हैं। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्रालय द्वारा पायलट प्रोजेक्ट के आधार पर 500 मीटर रोलर क्रैश बैरियर स्वीकृत किए हैं। जिसके लिए 3 करोड़ 67 लाख 50 हजार रुपए का टेंडर अवार्ड आरटीईटीआई गुजरात की कंपनी को हुआ है। पहले चरण में 500 मीटर के स्ट्रेच में मुबारकपुर से गुजरने एनएच 503 के लिए 300 मीटर तथा नाहन से बिरोजा फैक्ट्री एनएच907ए के 200 मीटर स्ट्रेच पर रोलर क्रैश बैरियर लगाया जाएगा।

क्या है रोलर क्रैश बैरियर

रोलर क्रैश बैरियर सड़क सुरक्षा को लेकर एक बेहतर और कारगर उपाय माना गया है। जिसमें क्रैश बैरियर के साथ रोलर लगाए जाएंगे। रोलर की खासियत यह होगी कि जब कोई भी गाड़ी अनियंत्रित होकर रोलर से टकराएगी, तो वह वापिस फिर से अपनी लेन में आ जाएगी। इससे ना केवल वाहन को भी सुरक्षा मिलेगी बल्कि गाड़ी में बैठे हुए लोगों की जान को भी बहुत कम खतरा रहेगा। विशेष तकनीक से बनाए गए यह रोलर बैरियर्स गाड़ी को वापिस सड़क की ओर धकेल देते हैं। गौरतलब हो कि जिला सिरमौर के नाहन शिमला रोड पर आईटीआई के समीप सैकड़ों दुर्घटनाएं हो चुकी है। तो वही ऊना के मुबारकपुर एनएच 503 पर भी सबसे ज्यादा दुर्घटनाएं दर्ज की गई है। प्रदेश सरकार के द्वारा प्राथमिकता के तौर पर इन प्रमुख ब्लैक स्पॉट पर रोलर क्रैश बैरियर लगाए जा रहे हैं।

जिसमें जिला नाहन के एनएच 907ए के लिए एक करोड़ 47 लाख तथा दो करोड़ 20 लाख 50 हजार रुपये का बजट मुबारकपुर के लिए स्वीकार किया गया हैं। नाहन ने बुधवार से रोलर क्रैश बैरियर को लगाए जाने का कार्य भी शुरू कर दिया गया है। सूत्रों की माने तो यदि यह रोलर क्रैश बैरियर बेहतर साबित रहते हैं, तो आने वाले समय में प्रदेश के अन्य बड़े ब्लैक स्पाट पर भी इन्हें लगाया जा सकता है। उधर नेशनल हाईवे नाहन मंडल के अधिशासी अभियंता अनिल शर्मा ने बताया कि एनएच 907ए पर आईटीआई नाहन के पास रोलर क्रैश बैरियर लगाए जाने का कार्य शुरू करवा दिया गया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।