रोटरी आइ अस्पताल मारंडा ने मनाई वर्षगांठ #news4
October 18th, 2021 | Post by :- | 139 Views

पालमपुर:  मेला मल सूद रोटरी आइ अस्पताल मारंडा ने सोमवार को अपनी 36वीं वर्षगांठ मनाई। इस अवसर पर यहां पर सुंदर कांड तथा भंडारे का आयोजन किया गया। पिछले 36 वर्षों से अपनी सेवाएं दे रहा यह रोटरी अस्पताल आज तक करीब 45 लाख लोगों की आंखों की जांच कर चुका है तथा यहां लगभग अढ़ाई लाख से ऊपर अंधेरे में जिंदगी जी रहे लोग रोशनी पा चुके हैं।

अस्पताल के मुख्य प्रबंधक राघव शर्मा ने बताया कि कोविड 19 के चलते भी इस अस्पताल में ओपीडी और सर्जरी लगतार चल रही है। उन्होंने बताया कि यह अस्पताल हर प्रकार की आधुनिक मशीनरी से सुसज्जित है जिसमें फ्लोरोसिन एंजियोग्राफी, फंड्स कैमरा, कॉन्सटेलेशन विज़न इत्यादि भी शामिल हैं। गौरतलब है कि इस अस्पताल का निर्माण रोटरी क्लब पालमपुर के मुख्य संरक्षक एवं पालमपुर के पूर्व विधायक डा. शिव कुमार के प्रयासों की देन है। जिसमें पालमपुर और बाहरी राज्यों के लोगों ने भरपूर आर्थिक सहयोग दिया है।

रायपुर के निवासी समाज सेवी बालक राम सूद ने इस अस्पताल के लिए जमीन दान में दी थी तथा अब यह अस्पताल उनके पिता के नाम मेला मल सूद रोटरी आई अस्पताल के नाम से चल रहा है। इस अस्पताल में हर प्रकार के नेत्र विशेषज्ञ अपनी उत्कृष्ट सेवाएं दे रहे हैं तथा यहां रोजाना करीब 500 लोगों की आंखों को जांचा जाता है तथा हर हफ्ते दो सौ से चार सौ लोगों की आंखों के आम तथा दुर्लभ ऑपरेशन किए जाते हैं।

यह अस्पताल सिर्फ अपने ही नहीं दूरदराज के क्षेत्रों में लोगों की आंखों को चेक करने के लिए कैंप का आयोजन करता रहता है। जिसमें लाहौल-स्पीति और भरमौर इत्यादि बड़े-बड़े दुर्गम क्षेत्र शामिल है। रोटरी आई फाउंडेशन द्धारा मारंडा के अलावा परागपुर, ऊना और बीड में भी आंखों के अस्पताल चलाए जा रहे हैं इनमें भी नेत्र चिकित्सक अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

रोटरी अस्पताल के डायरेक्टर डाक्टर सुधीर सलोत्रा ने बताया कि रोटरी आई फाउंडेशन द्वारा ठाकुरद्वारा में एक चाइल्ड एवं वूमेन केयर अस्पताल भी सेवारत है। जहां स्त्री रोग तथा शिशु रोग विशेषज्ञ काफी कम दामों में लोगों का उपचार करते हैं। जहां लेप्रोस्कोपिक सर्जरी, केंद्रीयकृत ऑक्सीजन सिस्टम,नेटल इंटेंसिव केयर, फिजियोथेरेपी की सुविधा भी उपलब्ध है। इस आई फाउंडेशन द्वारा सलियाना में रामानंद गोपाल बाल आश्रम चलाया है जहां दिव्यांग एवं अनाथ बच्चों के लिए मुफ्त हास्टल तथा निशुल्क शिक्षा प्रदान की जाती है। रोटरी फाउंडेशन द्वारा संचालित उपरोक्त सभी संस्थानों में स्थानीय ही नहीं बल्कि हिमाचल और बाहरी राज्यों के लोग लाभांवित हो रहे हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।