जयकला के जज्‍बे को सलाम, बर्फ पर फिसला वाहन तो पैदल ही वैक्‍सीनेशन सेंटर पहुंच गईं #news4
January 8th, 2022 | Post by :- | 198 Views

रोहड़ू : काम करने की मजबूत इच्छा हो तो कोई भी मंजिल दूर नहीं होती है। जुब्बल में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बर्फबारी के दौरान भी वैक्सीनेशन केंद्र में पहुंच कर यह उदाहरण प्रस्‍तुत किया है। शिमला जिले में जुब्बल के बरथाटा की महिला स्‍वास्‍थ्‍य कार्यकर्त्‍ता जय कला वैक्सीनेशन के लिए दो किलोमीटर का सफर तय कर केंद्र पहुंची। इसके बाद पूरा दिन वैक्सीनेशन का काम किया। उधर जुब्बल अस्पताल के कर्मचारी अपनी जान को हथेली पर रखकर स्कूलों तक बच्चों को टीका लगाने के लिए पहुंचे।

बर्फ में फिसल गया वाहन

जुब्बल अस्पताल की टीम बच्चों को वैक्सीन लगाने के लिए एक वाहन में निकली। यह वाहन खड़ा पत्थर नामक स्‍थान पर बर्फ में फिसल गया। वाहन पूरी तरह से सड़क पर घूम गया। पहले तो गाड़ी को निकालने के लिए प्रयास किए, लेकिन जब सफलता नहीं मिली तो गाड़ी वहीं छोड़ कर वैक्‍सीनेशन केंद्र वाले स्कूल के लिए टीम रवाना हो गई। टीम को दो किलोमीटर से ज्यादा का सफल पैदल ही तय करना पड़ा।

सुरेंद्र, विक्‍की और गणेश रहे टीम में शामिल

इस टीम में सुरेंद्र शर्मा ,विक्की, गणेश सहित अन्य शामिल रहे। सीएमओ शिमला डा. सुरेखा चोपड़ा ने कहा कि कर्मचारियों ने अपनी जान को हथेली में लेकर स्कूलों में बच्चों को वैक्सीनेशन किया है। इसी तरह से जिला के कर्मचारी कड़ी मेहनत से कोरोना का कवच हर स्कूली बच्चे तक पहुंचाने का काम कर रही है। बरथाटा में तो फीमैल हेल्थ वर्कर जय कला अकेली ही बर्फबारी के दौरान वैक्सीनेशन केंद्र में पहुंची। इन्होंने भी पूरा दिन अपनी डयूटी निभाई।

उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की टीम अपने कर्तव्य को पूरी निष्ठा से निभा रही है। इसी तन्मयता से हर व्‍यक्ति जिम्मेदारी को समझते हुए वैक्सीन लगाने के साथ ही कोरोना के लिए सरकार व प्रशासन की ओर से जारी नियमों का पालन करना चाहिए। इससे कोरोना को हराने में सफलता मिलेगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।