सरबजीत सिंह ( बॉबी ) शिमला का सबसे वेहला ( फालतु ) इंसान।
July 30th, 2019 | Post by :- | 235 Views

न तो इसको घर पे कोई काम है और न दूकान पर। कभी एंबुलेंस लेकर मरीजों को आई जी एम सी छोड़ने जा रहा होता है तो कभी मृत लावारिस लाशो को शमशान ले जाता है। शाम को लोग /पर्यटक जब माल रोड पर घूमते हुए मौसम का आनंद ले रहे होते है ये वेहला सरदार कैंसर हस्पताल में मरीजों को खिचड़ी का लंगर लगा के खिला रहा होता है। सवेरे सवेरे उठकर लोग सैर पे निकलते है और ये सरदार मरीजों को बिस्कुट खिला रहा होता है। रविवार को भी इसको चैन नही होता माल रोड पर ब्लड कैंप लगा कर लोगो का खून निकाल रहा होता है। ऐसा है ये वेहला इंसान।
इंसानियत को सुबकने से बचाते है ऐसे वेहला लोग। गरीबो के आंसू नही टपकने देते ऐसे वेहले लोग। वैसे भी आजकल कोई वेहला नही जो दुसरो के लिए थोड़ा वक़्त निकाल सके। और दुसरो के बारे में सोच सके उनकी तकलीफों को अपना सके।


ओ वेहले बन्दे बॉबी। .!! मेरे शहर में क्यों नही पैदा हुआ ?
मेरे शहर में भी मरीज है , उन्हें कोई हाथ भी नही लगाता। वहां भी लावारिस लाशें लावारिस ही पड़ी रहती है । वहां पर भी मरीजों को चाय बिस्कुट खिलाने वाला कोई तेरे जैसा वेहला बंदा चाहिए।
इन् शब्दों को लिखते हुए मेरी आँखें नम है।
ऐसी ही नमी आपकी जिंदगी का मकसद तय करती है।
सरबजीत सिंह बॉबी ( गुरु का सच्चा सिख और सिंह ) को सलाम..

Source:- Mandeep Singh Sidhu FB

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।