स्कॉलरशिप घोटाला : जांच को झटका
March 2nd, 2020 | Post by :- | 146 Views

सीबीआई ने एक साथ बदले चार बड़े अफसर, शिमला मुख्यालय में बड़े अधिकारियों में डीएसपी ही बचे
शिमला –हिमाचल में चर्चा में चल रहे स्कॉलरशिप घोटाले की जांच को बड़ा झटका लगा है। इसके अलावा कोटखाई प्रकरण और पटवारी भर्ती मामले की भी जांच भी प्रभावित होने की आशंका है। कारण है इन मामलों की जांच कर रही सीबीआई ने अपने चार बड़े अधिकारियों को ट्रांसफर कर दिया है। इनमें से दो अधिकारियों को दिल्ली भेजा गया है, जबकि एक को भोपाल और एक को श्रीनगर भेजा गया है। सीबीआई ने प्रदेश मुख्यालय शिमला में तैनात एसपी-एएसपी और दो इंस्पेक्टरों को बदल दिया है। सीबीआई का शिमला में एसपी ऑफिस है। खास है कि डीएसपी को छोड़कर सीबीआई ने अपने दूसरे ऑफिसर यहां से बदल दिए हैं। एसपी-एएसपी सहित चार पुलिस अफसरों के एक साथ जारी हुए तबादला आदेशों के कई मायने निकाले जा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि सीबीआई हिमाचल प्रदेश में कोटखाई प्रकरण के बहुचर्चित केस की जांच कर रही है। नाबालिग छात्रा से बलात्कार एवं हत्या तथा जेल में सूरज हत्याकांड के मामले की जांच कर रही सीबीआई को कई बार कोर्ट से लताड़ लगी है। हालांकि इस केस का सीबीआई ने कोर्ट में चालान पेश कर दिया है। लंबी जद्दोजहद के बाद सीबीआई ने इस केस में एक चरानी को गिरफ्तार किया है। मानवीय सरोकारों के चलते इस केस से जुड़ी एनजीओ चरानी की गिरफ्तारी के बावजूद सीबीआई की जांच पर सवाल उठा रही है। इसके चलते अब भी लोगों का मानना है कि इस केस में अकेला चरानी ही कसूरवार नहीं है। असली मुजरिम अब भी सीबीआई की गिरफ्त से बाहर खुले में घूम रहे हैं। सूचना के अनुसार सीबीआई ने गिरफ्तार किए गए चरानी के खिलाफ पुख्ता सबूत जुटा कर कोर्ट में सौंप दिए हैं। इसके अलावा सीबीआई हिमाचल में स्कॉलरशिप फर्जीबाडे़ को लेकर जांच कर रही है। छात्रों की छात्रवृत्ति हड़पने वाले शिक्षण संस्थानों में कई यूनिवर्सिटी व कालेज हिमाचल के भी हैं। राज्य सरकार ने यह मामला पिछले साल ही सीबीआई को सौंपा था। जाहिर है कि छात्रों की स्कॉलरशिप हड़पने वाले शिक्षण संस्थान संचालक धनासेठ हैं। इसके अलावा सीबीआई को हाल ही में कोर्ट ने पटवारी भर्ती की जांच भी सौंपी है। इस मामले में सीबीआई को आदेश पारित किए गए हैं कि आठ अप्रैल तक रिपोर्ट कोर्ट में प्रस्तुत की जाए। इस दौरान सीबीआई को बताना होगा कि पटवारी भर्ती को लेकर चस्पां किए गए आरोप सही हैं या गलत। बताते चलें कि देश की सबसे बड़ी स्वतंत्र जांच एजेंसी सीबीआई पर आम लोग सबसे ज्यादा भरोसा करते हैं। इसके चलते हिमाचल के कई बड़े मामलों की सीबीआई जांच कर रही है। इसी बीच एसपी-एएसपी तथा दो इंस्पेक्टरों का एक साथ तबादला भी चर्चाओं को जन्म दे रहा है। सीबीआई के आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि कुछ अधिकारी अपनी विलिंग पर ट्रांसफर हुए हैं।

सीबीआई के ये अफसर तबदील
रैंक अधिकारी ट्रांसफर

एसपी अशोक शर्मा दिल्ली

एएसपी मनोज कुमार भोपाल

इंस्पेक्टर अनुपम चौहान श्रीनगर

इंस्पेक्टर विजय कुमार दिल्ली

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।