वाट्सएप ग्रुप से जुडे स्‍कूली बच्चे, वीडियो कॉल से हो रही है पढ़ाई
April 22nd, 2020 | Post by :- | 134 Views

कोरोना से बने हालात के बाद बच्चों की पढ़ाई सुचारू रखने के लिए शिक्षक ऑनलाइन बच्चों को पढ़ा रहे हैं। प्रदेश में शिक्षा विभाग की ओर से कर्फ्यू में बच्चों की पढ़ाई जारी रखने के लिए शुरु किए गए कार्यक्रम समय 10 से 12, हर घर बने पाठशाला अभियान में जिला सोलन के शिक्षक अहम भूमिका निभा रहे है। जिला सोलन में कई शिक्षकों ने तो कर्फ्यू  से ऑनलाइन पढ़ाई के लिए विद्यार्थियों को वाट्सएप ग्रुपों से जोड़ दिया था। बच्चों को होम वर्क वाट्सएप ग्रुपों के माध्यम से दिया जा रहा था। अब वीडियो कॉल के माध्यम से भी पढ़ाया जा रहा है।

वाट्सएप ग्रुपों से जुड़े विद्यार्थी 

जिला सोलन में कक्षा पहली से आठवीं तक शिक्षा ग्रहण कर रहे छात्रों में से अब तक करीब 60 प्रतिशत को इस अभियान से जोड़ा जा चुका है। जिला सोलन के 11 सौ स्कूलों में 52 हजार विद्यार्थी इस समय पहली से आठवीं कक्षा के बीच शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। प्रारंभिक जिला शिक्षा विभाग सोलन द्वारा दिन प्रतिदिन इस अभियान को तेजी से चलाया जा रहा है व विद्यार्थियों को वाट्सएप ग्रुपों से जोड़ने का कार्य जारी है।

जिला सोलन के शिक्षा खंड कुठाड़ के अंतर्गत प्राथमिक पाठशाला चामत भड़ेच में कार्यरत जेबीटी शिक्षिका देवेश्वरी कंवर ने बताया कि उन्होंने अपने स्कूल में ऑनलाइन पढ़ाई की शुरुआत फरवरी में कर दी थी। कफ्यरू के बाद उन्हें कोई ज्यादा परेशानी नही हुई। देवेश्वरी कंवर ने बताया कि वह तीसरी व पांचवी कक्षा के विद्यार्थियों को पढ़ाती हैं व उन्होंने 20 बच्चों का वाट्सएप ग्रुप बनाया है। उनके स्कूल में कुल 35 विद्यार्थी है, जिसमें 20 उनके ग्रुप में है। मिडल स्कूल चामत भड़ेच के शिक्षक राजेंद्र कुमार ने बताया कि उन्होंने वाट्सएप ग्रुप के माध्यम से पढ़ाई की शुरुआत एक वर्ष पहले ही कर दी थी। अर्की उपमंडल के प्राथमिक स्कूल ग्याणा मांगू की शिक्षिका ज्योति महाजन ने बताया कि प्रदेश शिक्षा विभाग द्वारा बच्चों की पढ़ाई के तैयार की गई शिक्षण सामाग्री काफी अच्छी है।

इस अभियान को जमीनी स्तर पर सुचारू रूप से चलाने के लिए प्रदेश शिक्षा निदेशालय द्वारा हर शिक्षक पर नजर रखी जा रही है। शिक्षा निदेशालयों द्वारा रोजाना शिक्षकों द्वारा किए जा रहे कार्यो की मॉनिटरिंग की जा रही है। अब तक करीब 60 प्रतिशत विद्यार्थियों को वाट्सएप ग्रुपों से जोड़ा जा चुका है।

-चंद्रमोहन शर्मा, उप जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक शिक्षा। 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।