सील पंचायतों में भी होंगे कृषि संबंधी कार्य, किसान से अधिक दहाड़ी मांगने वाले मजदूरों पर होगी कार्रवाई
April 21st, 2020 | Post by :- | 154 Views

डीसी ऊना संदीप कुमार ने वन विभाग को भी आवश्यक कार्य करने की अनुमति प्रदान कर दी है। इसके लिए अधिकारियों, ठेकेदारों व मजदूरों को डीएफओ पास जारी करेंगे। इसके अलावा आईबीआर ब्वॉयलर के साथ कार्य करने वाली कत्था भट्टियों को भी काम करने की अनुमति प्रदान कर दी गई है। उन्होंने कहा कि कार्य करने वालों को सोशल डिस्टेंसिंग सहित कोरोना से संबंधित अन्य गाइडलाइन्स का गंभीरता के साथ पालन करना होगा। जिले में लगभग दो दर्जन कत्था बनाने वाले इन छोटे बड़े उद्योगों को राहत मिलेगी।

सील हुई पंचायतों में भी कृषि विभाग विशेष हिदायतों के साथ कृषकों को काम करने की अनुमति प्रदान करेेगा। मेडिकल इमरजेंसी वालों को प्रवेश और बाहर जाने पर काेई रोक नहीं है। कुरियर सेवाएं सशर्त बहाल होंगी। बिना अनुमति के दुकान खोलने वालों पर भी प्रशासन कार्रवाई करेगा। किसानों से अधिक दिहाड़ी मांगने वाले मजदूरों पर लिखित शिकायत होने पर कार्रवाई की जाएगी।

डीसी संदीप कुमार ने पोलियां व गोंदपुर जयचंद में जांची व्यवस्थाएं

उपायुक्त ऊना संदीप कुमार ने आज हरोली उपमंडल के तहत आने वाले पोलियां व गोंदपुर जयचंद में व्यवस्थाएं जांची। उन्होंने यहां पर पुलिसकर्मियों व स्वास्थ्य विभाग की टीमों के साथ बात की और आवश्यक दिशा निर्देश जारी किए। उन्होंने कहा कि बिना चिकित्सीय जांच किसी को भी हिमाचल प्रदेश की सीमा में दाखिल होने की अनुमति नहीं है। अगर कोई बिना वैध पास के हिमाचल की सीमा में प्रवेश करता है, तो उसे 14 दिन के लिए क्वारंटीन सेंटर में रखा जाएगा। उन्होंने पुलिसकर्मियों को निर्देश दिए कि आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई करने वाले वाहनों पर कोई पाबंदी नहीं है। साथ ही खेती बाड़ी का काम कर रहे किसानों को भी किसी कर्फ्यू पास की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि जिला ऊना में कोरोना के चलते कर्फ्यू लगा है। ऐसे में लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखना होगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।