न्यू ईयर जश्न के लिए शिमला में कड़ी होगी सुरक्षा व्यवस्था, 7 सेक्टर में बांटा शिमला #news4
December 30th, 2021 | Post by :- | 199 Views

शिमला : भले ही देश के कई राज्यों में ओमीक्रोन के खतरे को देखते हुए बंदिशें लगा दी है। लेकिन हिमाचल प्रदेश सरकार ओमीक्रोन के डर के बजाए पर्यटन से मुनाफा देख रही है। यही वजह है कि अभी हिमाचल में कोई बंदिशें नही लगाई गई है।  पहाड़ों की रानी शिमला सहित अन्य पर्यटन स्थलों पर न्यू ईयर पर मनाये जाने वाले कार्यक्रमों को देखते हुए पुलिस सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। शिमला में पर्यटकों का हुजूम उमड़ आया है। बढ़ते ओमिक्रोन के खतरे और कानून व्यवस्था को लेकर शिमला जिला प्रशासन  ने पर्यटकों को नियमों की पालना करने की सलाह दी है।

शिमला जिला प्रशासन ने नए साल के जश्न के लिए शहर को 7 सेक्टर में बांटा है जिसके लिए 7 मैजिस्ट्रेट को जिम्मा सौंपा गया है । शहर में नए साल पर 250 पुलिस कर्मी सुरक्षा का जिम्मा देख रहे हैं। पूरे शहर में ट्रैफिक और कानून व्यवस्था के लिए पुलिस जवानों को तैनात कर दिया है। उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी  ने बताया कि  नए साल के जश्न के लिए भारी संख्या में पर्यटक शिमला पहुंच रहे हैं जिसके चलते ट्रैफिक की समस्या भी आ रही है। इसलिए जिला प्रशासन ने नए साल पर 5 प्रतिबंधित सड़को को पार्किंग के लिए खोल दिया है। कानून व्यवस्था के लिए 4 रिजर्व फोर्स शहर में तैनात कर दी गईं हैं। ओमिक्रोन के खतरे को देखते हुए पर्यटकों से कोविड नियमों की पालना की अपील भी की गई है। हालांकि हिमाचल प्रदेश में ओमीक्रोन का एक मामला आया वह भी ठीक हो चुका है ओर एक्टिव मामले 370 रह गए है। लेकिन 70 लाख की आबादी वाले प्रदेश में कोरोना से 3856 मौत हो चुकी है। दूसरी लहर में तो मौतों का आंकड़ा चार गुणा बढ़ा। ऐसे में ओमीक्रोन की तीसरी लहर के बीच नए साल पर जुटने वाली भीड़ क्या नियमों के पालन से संक्रमण को रोक पाएगी?

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।