होटल में पत्नी को प्रेमी के साथ संदिग्ध हालत में देख पति ने उठाया ये खौफनाक कदम #news4
June 24th, 2022 | Post by :- | 60 Views

कुल्लू  : पर्यटन नगरी मनाली के एक होटल में हुए गोलीकांड में 2 लोगों की मौत हो गई है। मामला प्रेम प्रसंग का है। पति ने पत्नी के प्रेमी को गोली मार दी जिससे उसकी मौत हो गई। पति ने पत्नी पर भी गोली चलाई लेकिन वह बच गई, अंत में पति ने खुद को भी मारकर आत्महत्या कर ली। मरने वालों की शिनाख्त ऋषभ सक्सेना (32) पुत्र प्रवीण सक्सेना निवासी सैक्टर 7 दिल्ली जबकि सन्नी शेरावत (31) पुत्र कुलदीप कुमार निवासी आरजैडडी 67 स्ट्रीट नंबर-3 मेन गोपाल नगर नजबगढ़ नई दिल्ली के रूप में हुई है। पुलिस ने मौके में पहुंचकर जांच शुरू कर दी है।

पहले मारपीट की फिर मारी गोली
वारदात में घायल रवलीन कौर चावला ने बताया कि उसके पति ऋषभ सक्सेना ने पहले इसके साथ मारपीट की उसके बाद उसके दोस्त सन्नी शेरावत को गोली मारी तथा उसके बाद खुद को भी शूट कर लिया। घटना में रवलीन कौर चावला भी घायल हुई जो अस्पताल में उपचाराधीन है। एसपी कुल्लू गुरदेव शर्मा ने बताया कि सुबह 6 बजे थाने में सूचना मिली कि होटल हिमालय ओक शुरू मनाली में गोली चली है। होटल के कमरा नंबर-102 का दरवाजा अंदर से बंद था तथा कमरे के पिछले बालकनी वाले दरवाजे से चैक किया तो 2 व्यक्ति मृत पड़े थे, जिनमें से एक व्यक्ति पूरी तरह से नग्न अवस्था में था। उपरोक्त घटना होटल के अंदर व बाहर लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गई।

6 महीने पहले लीज पर लिया था होटल 
यह होटल रवलीन कौर चावला व उसकी बहन अशनीत कौर ने राजकुमार से 6 महीने पहले लीज पर लिया था। सन्नी शेरावत इन दोनों बहनों का दोस्त था। रवलीन कौर का पति घियागी (बंजार) एरिया में कैंपिंग का व्यवसाय करता था। सीसीटीवी फुटेज से पता चला है कि रवलीन कौर चावला का पति सुबह 4 बजे होटल में दाखिल हुआ, जिसके हाथ में पिस्तौल थी। वह होटल के कुछ कमरों को चैक करता हुआ कमरा नंबर 102 में पहुंचा जहां उसने घटना को अंजाम दिया। कमरे में उसकी पत्नी रवनील कौर चावला सन्नी शेरावत के साथ संदिग्ध अवस्था में थी। घटनास्थल को पुलिस ने पूरी तरह से चैक किया है तथा फोरैंसिक टीम द्वारा घटनास्थल से साक्ष्य एकत्रित किए जा रहे हैं। मामले में तफ्तीश जारी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।