पोस्ट कोड 556 के चयनित अभ्यार्थियों को 7 महीने बाद भी नहीं मिली कहीं ज्वाइनिंग
October 17th, 2019 | Post by :- | 178 Views

पोस्ट कोड 556 में चयनित उम्मीदवारों को सात महीने वित्त जाने के बाद भी ज्वाइनिंग नही मिल पाई है। जिस कारण हजारो बेरोजगार के साथ नौकरी के नाम पर धोखा है, साथ ही बहुत नाइंसाफी हो रही है। पोस्ट कोड 556 में उतीर्ण हुए उम्मीदवारों में रवि, कमलेश, अनूप दिलीप, रीना, जय, नागेश ने सरकार और विभाग से मांग की है कि उतीर्ण उम्मीदवारों को जल्द से जल्द नियुक्ति दी जाएं।

उक्त उम्मीदवारों ने कहा कि कुछ विभागों में नियुक्ति दे दी गई है, लेकिन कुछ विभागों में अभी भी नियुक्ति नहीं दी जा रही है। जबकि यह प्रक्रिया 4 सालों से चली आ रही है। इसमें बहुत समय लग गया है, जिस कारण चयनित उम्मीदवार के भविष्य में तलवार लटक गई है। उन्होंने कहा कि फरवरी 2019 में रिजल्ट आने के बाद भी 6 महीने कोर्ट के चक्कर में चयनित अभ्यर्थियों के बर्बाद हो चुके हैं, और सितंबर 2019 में भी नियुक्ति ना मिलने के कारण उनके 6 महीने और बर्बाद हो चुके हैं और अभी भी नियुक्ति नहीं मिल पा रही है।

नियुक्ति के लिए कोर्ट के आदेश आने के बावजूद भी कुछ विभागों मैं नियुक्तियां दे दी गई है। जबकि कुछ विभाग नियुक्तियां देने में टालमटोल कर रहे हैं। ज्यादातर विभागों में से इलेक्शन कमीशन से परमिशन मिल गई है और कुछ विभागों के माननीय मंत्री व अधिकारी जानबूझकर नियुक्ति देने में देरी कर रहे हैं। पोस्ट कोड 447 में परिणाम आने के 4 दिन बाद ही 1400 के लगभग उम्मीदवारों को नियुक्ति दे दी गई थी‌। 556 में जानबूझकर देरी की जा रही है और चयनित अभ्यर्थियों को मानसिक और आर्थिक रुप से उनका शोषण हो रहा है। बल्कि 556 में कुल 625 चयनित अभ्यार्थी हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।