सिरमौर के शहीद अजय कुमार को मरणोपरांत मिला शौर्य चक्र
March 20th, 2019 | Post by :- | 178 Views
सिरमौर जिले के शहीद अजय कुमार को मरणोपरांत शौर्य चक्र से नवाजा गया है। वीर बेटे के मरणोपरांत माता कमला देवी और पिता सुरेश कुमार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शौर्य चक्र प्रदान किया।

सिरमौर के पच्छाद इलाके की कोटला पंजोला पंचायत से संबंध रखने वाले शहीद अजय ने 24 अप्रैल 2018 को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा क्षेत्र में अपनी वीरता का परिचय दिया था।उस दौरान अजय कुमार ने पाकिस्तान के एक आतंकी को ढेर कर अपनी टुकड़ी को सुरक्षित कर लिया। सुबह करीब सात बजे आतंकियों के छिपने के संभावित ठिकानों पर दबिश दी गई।

इसी बीच शहीद अजय कुमार और उनके साथियों पर आतंकियों ने गोलियों की बौछार कर दी। उन पर ग्रेनेड भी फेंका गया, लेकिन शहीद अजय कुमार ने बिना कवर ही आतंकियों से मुकाबला शुरू कर दिया। मुठभेड़ में अजय कुमार को भी गोली लगी।

माता-पिता के बुढ़ापे का एकमात्र सहारा थे अजय

इसके बाद आर्मी अस्पताल में अजय कुमार ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। शहीद अजय कुमार की इस बहादुरी की जब शौर्य गाथा राष्ट्रपति भवन में पढ़ी गई तो हर हिमाचली का सीना फख्र से चौड़ा हो गया।

शहीद अजय माता-पिता के बुढ़ापे में एकमात्र सहारा थे। शहीद अजय के भाई की पहले ही मौत हो चुकी थी। शहीद अजय अविवाहित ही थे। 42 राष्ट्रीय राइफल में तैनात शहीद अजय का जन्म 25 जून 1992 को पच्छाद इलाके में हुआ था। अजय 21 सितंबर 2013 को भारतीय सेना में भर्ती हुए और 26 साल की छोटी उम्र में देश की रक्षा करते हुए शहादत पाई।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।