सोलर से बिजली पैदा कर हर माह 50 हजार की बचत कर रहा शमशी आईटीआई संस्थान
October 4th, 2019 | Post by :- | 421 Views

प्रदेश सरकार द्वारा बिजली की कम खपत को लेकर दिए गए नारे को औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान शमशी चरितार्थ कर रहा है। यहां सोलर पैनल से पैदा की गई बिजली से हर माह 50 हजार की बचत की जा रही है। वहीं सोलर पैनल की बिजली से ही सभी मशीनों को चलाया भी जा रहा है। ताकि सर्दियों में बिजली ना होने के बाद भी छात्रों को प्रशिक्षण के लिए किसी प्रकार की दिक्कतों का सामना ना करना पड़े। साल 2012 में केंद्र सरकार की सहायता से औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के भवन की छत पर 100 किलो वाट बिजली उत्पादन की क्षमता वाले सोलर पैनल लगाए गए थे। जिसका परिणाम यह हुआ कि आज करीब 7 साल के बाद संस्थान 35 लाख रुपए से अधिक की बचत कर चुका है। वही सोलर पैनल से तैयार बिजली के प्रयोग में लाने के चलते संस्थान प्रदेश में पहला संस्थान भी बना हुआ है।
औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान प्रबंधन द्वारा आयोजित बैठक में भी संस्थान में चल रहे विकास कार्यों के बारे में चर्चा की गई। इस बैठक की अध्यक्षता कमेटी के चेयरमैन युवराज द्वारा की गई। वहीं कमेटी के सचिव व संस्थान के प्रधानाचार्य सुनील शर्मा द्वारा विकास कार्यों का ब्यौरा भी रखा गया। बैठक को संबोधित करते हुए चेयरमैन युवराज ने कहा कि सोलर पैनल के छोटे-छोटे और भी पैनल संस्थान में लगाए जाएंगे ताकि बिजली की खपत को कम किया जा सके। वहीं संस्थान में सोलर पैनल से उत्पादित बिजली के माध्यम से ही लाइट व अन्य मशीनों को चलाया जा रहा है। उनका कहना है कि कई बार सर्दियों के मौसम में बिजली का लोड कम होने के चलते संस्थान में लगी हेवी मशीनरी चलाने में दिक्कतें आती थी। जिसके चलते केंद्र सरकार को एक प्रस्ताव भेजा गया जिससे तुरंत मंजूरी मिल गई। आज संस्थान में 100 किलो वाट के सोलर पैनल लगे हुए हैं जिन से पैदा होने वाली बिजली के चलते मशीनों को चलाने में में कोई दिक्कत नहीं आती है। वहीं छात्रों को भी प्रैक्टिकल करने में किसी प्रकार की दिक्कतें नहीं उठानी पड़ रही है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।