Shimla: देइया-नेरवा मार्ग पर 10 मिनट के अंतराल में एक ही स्थान पर नाले में गिरीं दो कारें, दो युवकों की मौत #news4
October 10th, 2022 | Post by :- | 187 Views

हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले में देइया-नेरवा मार्ग पर जल शक्ति विभाग के स्टोर के समीप गिल्लड़ नाला में सोमवार दोपहर अजीबोगरीब तरीके से दो कारें दुर्घटनाग्रस्त हो गईं। 10 मिनट के अंतराल में दो कारें एक ही स्थान पर हादसे का शिकार गईं। हादसे में दो युवकों की मौत हुई है। जानकारी के अनुसार सोमवार दोपहर करीब 1:00 बजे कार संख्या एचपी 08 ए-2717 में सवार तीन युवक दयांडली से नेरवा की तरफ आ रहे थे। इस दौरान गिल्लड़ नाला के समीप यह कार सड़क से लुढ़ककर करीब 50 मीटर नीचे नाले में जा गिरी । पुलिस व स्थानीय लोगों ने गंभीर अवस्था में तीनों युवकों को उपचार के लिए नेरवा पंहुचाया।

अस्पताल में उपचार के दौरान दो युवकों की मौत हो गई है। एक युवक को प्राथमिक उपचार के बाद आईजीएमसी शिमला रेफर कर दिया गया है।  वहीं घटनास्थल पर राहत व बचाव कार्य के दौरान एक अजीबोगरीब घटना घट गई। जब करीब दो दर्जन लोग राहत व बचाव कार्य में जुटे हुए थे, तो उसी समय सड़क के किनारे खड़ी एक अन्य कार संख्या यूके 07 पी-2567 गियर फिसलने के कारण पहले से दुर्घटनाग्रस्त कार के समीप आ गिरी । गनीमत यह रही कि न तो इस कार में कोई व्यक्ति सवार था, न ही राहत व बचाव कार्यों में जुटे लोगों में से कोई इसकी चपेट में आया। अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था।

मृतकों की पहचान मनोज जिंटा (33) पुत्र केवल राम जिंटा,  विक्रम जिंटा(23) पुत्र राम लाल निवासी  गांव ढाढ़ू, तहसील व डाकघर नेरवा के रूप में हुई है। जबकि विनोद जिंटा पुत्र काना सिंह गंभीर रुप से घायल है। पोस्टमार्टम के बाद मृतकों के शव परिजनों को सौंप दिए गए हैं। नगर पंचायत नेरवा की अध्यक्ष बबिता तंगड़ाइक, व्यापार मंडल नेरवा के अध्यक्ष राजीव भिख्टा, उपाध्यक्ष दिनेश अमरेट ने हादसे पर गहरा दुख प्रकट करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त की हैं। एसडीपीओ चौपाल राज कुमार ने हादसे की पुष्टि करते हुए बताया कि नेरवा थाना में मामला दर्ज कर हादसे के कारणों की जांच की जा रही है। प्रशासन की तरफ से मृतकों के परिजनों व घायल युवक को 10-10 हजार रुपये की फौरी राहत प्रदान की गई है ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।