सायरन बजते ही हरकत में आया प्रशासनिक अमला
July 11th, 2019 | Post by :- | 224 Views

मण्डी 11 जुलाई:– अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी एवं घटना कमांडर श्रवण मांटा ने कहा यह अभ्यास एक काल्पनिक घटना को आधार बना कर किया गया। इस घटना के अनुरूप मंडी जिले में रात करीब साढ़े 12 बजे 8 रिक्टर तीव्रता का भूकंप आया। इसका केंद्र सुंदरनगर में जमीन के 25 किलोमीटर नीचे था। जिसे लेकर डीसी ऑफिस से आपातकालीन हुटर बजाया गया। फायर ब्रिगेड की गाड़ियों के सायरन बजा कर भी लोगों को सचेत किया गया।जिले में यह अभ्यास सुबह साढ़े 8 बजे आरम्भ हुआ। करीब आधे घंटे के भीतर आपदा प्रबंधन से जुड़े सभी संबंधित अधिकारी एवं विभाग अपने संसाधनों समेत पड्डल पहुच गए थे।
सायरन सुनते ही जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण और अन्य विभाग तुरंत हरकत में आ गए। स्वयं को सुरक्षित करने के उपरांत आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के सभी अधिकारी पड्डल मैदान में निर्धारित स्टेजिंग क्षेत्र में एकत्र हुए। यहां अधिकारियों को घटना के बारे में जानकारी दी और सभी योजना के अनुरूप निर्धारित कार्यों में जुट गए।
स्टेजिंग क्षेत्र में संबंधित एसडीएम एवं अन्य विभागों के अधिकारी एवं कर्मचारी अपने-अपने विभाग से जुड़े संसाधनों सहित एकत्र हो चुके थे। भूकंप के कारण जिले में 4 स्थलों के प्रभावित होने की सूचना थी । जिनमें मंडी शहर में भूतनाथ गली, भ्यूली पुल, बग्गी नहर, सुंदर नगर कॉलेज शामिल थे। इसके अलावा मंडी शहर में लोक निर्माण विभाग कार्यालय, डाइट मंडी और क्षेत्रीय अस्पताल को भी मॉक ड्रिल में शामिल किया गया।
स्टेजिंग एरिया में पहुंच कर घटना स्थलों के लिए बचाव दलों का गठन किया गया और उन्हें जरूरी मशीनरी देकर प्रभावित स्थलों के लिए रवाना किया गया।
इस दौरान प्रत्येक बचाव दल के साथ आपातकालीन वाहन, स्वास्थ्य विभाग की टीमें भी घटना स्थलों के लिए रवाना की गईं। अभ्यास में 108 आपातकालीन सेवा का भी सहयोग लिया गया। पड्डल मैदान में चिकित्सा एवं राहत शिविरों की स्थापना की गई, जहां घायलों को लाया गया, वहीं लोगों के लिए भोजन इत्यादि की व्यवस्था के लिए भी आवश्यक कदम उठाए गए। इस प्रकार सभी विभागों के सहयोग के साथ इस अभ्यास को पूरा किया गया। इसके अलावा सर्व संस्था के स्वयं सेवियों और आपदा मित्रों का भी राहत बचाव कार्यों में सहयोग लिया गया।
श्रवण मांटा ने कहा आपदा प्रबंधन को लेकर लोगों को जागरूक करने एवं प्रशासनिक तैयारियों को जांचने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। ये प्रयास आगे भी जारी रहेंगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।