पेपर लीक मामले पर SP मंडी ने की बात: बताया आखिर हुआ क्या था- जानें #news4
April 25th, 2022 | Post by :- | 122 Views

शिमला। हिमाचल प्रदेश में रविवार को आयोजित हुई जूनियर ऑफिस असिस्टेंट (जेओए) आईटी की परीक्षा का पेपर लीक कल शाम से ही गरमाया हुआ है। इस मामले में अबतक सात लोगों की गिरफ्तारी भी की जा चुकी है। वहीं, पुलिस प्रशासन द्वारा की जारी लगातार कार्रवाई के बीच अब इस मामले की असल तस्वीर साफ़ होती नजर आ रही है।

अभी तक जहां प्रशासन की तरफ से इस बारे में कोई स्पष्ट बयान नहीं दिया जा रहा था। वहीं, अब एसपी मंडी शालिनी अग्निहोत्री का इस मसले पर बयान सामने आया है, जिसमें उन्होंने मामले को लेकर पूरी स्थिति को स्पष्ट किया है।

पुलिस ने सुलझा लिया है केस

पत्रकारों से बातचीत के दौरान एसपी मंडी शालिनी अग्निहोत्री ने बताया है की पुलिस ने इस मामले को सुलझा लिया है। उन्होंने बताया कि पेपर शुरू होने से आधे घंटे पहले प्रश्‍न पत्र की फोटो खींचकर इसे बाहर भेजा गया था। निजी शिक्षण संस्थान के तैनात कर्मचारी गोपाल ने पेपर की फोटो खींची थी और इसे बाहर अन्य लोगों के पास भेज दिया था।

गूगल बाबा की मदद से लिखा जा रहा था जवाब

बकौल एसपी मंडी, इसके बाद परीक्षा केंद्र के बाहर गूगल सर्च के जरिये सवालों के जवाब लिखे गए। उन्होंने आगे बताया कि अबतक इस मामले में 7 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिनके पास मौजूद 10 मोबाइल फोन्स को पुलिस ने जब्त कर लिया है। उन्होंने बताया कि इस पूरी वारदात का प्लान राकेश और गोपाल द्वारा बनाया गया था।

यहां जानें कैसे पकड़ा गया अभ्यार्थी

मिली जानकारी के अनुसार परीक्षा में अभ्यार्थी को परीक्षा केंद्र से बाहर जाने की अनुमति नहीं थी। वहीं, 11 बजे से 1 बजे तक चलने वाली इस 2 घंटे लंबी परीक्षा के दौरान करीब साढ़े 12 बजे परीक्षा दे रहे एक युवक ने ड्यूटी पर तैनात महिला प्राध्यापक से शौच जाने की बात कहकर निकला और थोड़ी देर बाद वापस आकर बैठ गया।

इस बीच महिला शिक्षक को उसके द्वारा नक़ल किए जाने का संदेह हुआ तो उन्होंने अपने उच्च अधिकारियों को इस बारे में जानकारी दी। इसके बाद जब उसकी तलाशी लेने के लिए अन्य लोग परिक्षकक्ष में पहुंचे तो आरोपी युवक उनसे लड़-झगड़ कर मौके से भागने का प्रयास करने लगा, लेकिन वहां मौजूद शिक्षकों द्वारा उसे पकड़ लिया गया।  

इसके बाद पुलिस को भी मामले की सूचना दे दी गई और पुलिस ने कॉलेज पहुंचकर उसके अन्य सहयोगियों को भी अरेस्ट कर लिया। फिर रात भर आरोपियों के धर-पकड़ की कार्रवाई चलती रही और अब खबर है कि मामले में कुल 7 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। वहीं, पुलिस द्वारा मामले को सुलझा लेने का भी दावा किया गया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।