प्रदेश में नशे के खिलाफ चलाया जाएगा विशेष अभियान : मुख्य सचिव
September 28th, 2019 | Post by :- | 154 Views

प्रदेश में नशे के खिलाफ 15 नवम्बर से 15 दिसम्बर तक एक माह का विशेष अभियान चलाया जाएगा। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग को इस अभियान का नोडल विभाग बनाया गया है। मुख्य सचिव डॉ. श्रीकान्त बाल्दी ने आज यहां इस अभियान के सम्बन्ध में विभिन्न विभागों विशेषकर स्वास्थ्य, शिक्षा, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, युवा सेवाएं एवं खेल, गृह, पुलिस विभाग, हिमाचल प्रदेश राज्य रेड क्रॉस सोसायटी तथा नेहरू युवा केन्द्र संगठन के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के दिशा-निर्देशों के अनुसार राज्य सरकार प्रदेश में नशे की रोकथाम के लिए हर सम्भव प्रयास कर रही है। विभिन्न विभागों द्वारा इस सम्बन्ध में पहले से ही कई कार्यक्रम व गतिविधियां चलाई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि नशा समाज को विशेषकर युवाओं को विशेष रूप से प्रभावित करता है तथा सभी लोगों को मिलजुल कर नशे के खिलाफ अभियान चलाना होगा ताकि इस बुराई को समाज से जड़ से उखाड़ा जा सके। बैठक में उपस्थित सभी विभागों के प्रतिनिधियों को इस अभियान की समय पर तैयारी करने तथा विभिन्न कार्यक्रम व गतिविधियां निर्धारित करने के निर्देश देते हुए कहा कि पुलिस विभाग को विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से नशे के व्यापार पर रोक लगाने की दिशा में और भी कड़े कदम उठाने चाहिए। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य, शिक्षा, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता तथा युवा सेवाएं एवं खेल विभाग को समाज में नशे की आदत से छुटकारा पाने और विकासात्मक गतिविधियों में शामिल होने में लोगों में जागरूकता लाने के भी प्रयास किए जाने चाहिए। इस अवसर पर अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह मनोज कुमार, अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आर.डी. धीमान, विशेष सचिव सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता एस.डी. नेगी तथा स्वास्थ्य, शिक्षा, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, युवा सेवाएं एवं खेल, गृह, पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारी तथा हिमाचल प्रदेश राज्य रेड क्रॉस सोसायटी और नेहरू युवा केन्द्र संगठन के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।