इग्नू की तर्ज पर संचालित किए जाएंगे प्रदेश में राज्य मुक्त विद्यालय : डॉ सुरेश सोनी
November 22nd, 2019 | Post by :- | 191 Views

प्रदेश में राज्य मुक्त विद्यालय (एसओएस) इग्नू की तर्ज पर संचालित किए जाएंगे। इन विद्यालयों में प्रवेश के लिए छात्रों की सुविधा को देखते हुए सप्ताह में दो बार कक्षाएं लगाई जाएंगी। हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने यह निर्णय लिया है । एसओएस के स्टडी सेंटर में छात्रों की काऊंसलिंग भी की जाएगी। एसओएस के स्टडी सेंटरों में आउटसोर्सिंग के माध्यम से बेरोजगार शिक्षकों को पढ़ाने का मौका दिया जाएगा।

इसके लिए बेरोजगार शिक्षकों को मानदेय दिया जाएगा। प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने पहली बार एसओएस की कार्यशाला का आयोजन धर्मशाला में किया गया। धर्मशाला मुख्यालय में आयोजित कार्यशाला में जिला कांगड़ा के एसओएस स्टडी सेंटर के समन्वयक व प्रधानाचार्य ने भाग लिया। कार्यशाला की अध्यक्षता करते हुए स्कूल शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ सुरेश सोनी ने ये जानकारी देते हुए बताया कि बोर्ड शीघ्र ही स्कूलों में ऐसी व्यवस्था करने जा रहा है। इसके तहत ऐसे छात्र जो किसी कारण रैगुलर पढ़ाई नहीं कर सकते हैं वह आसानी से पढ़ाई करेंगे।

इस दौरान उन्हें हर विषय का शिक्षक उपलब्ध करवाया जाएगा। वर्तमान में प्रदेश में एसओएस के स्टडी सेंटरों की संख्या 249 हो गई है जिसमें 95 निजी अध्यन केंद्र हैं। सुरेश सोनी ने बताया कि वर्ष 2012 में एसओएस शुरू किया गया था, लेकिन इसमें छात्रों का इजाफा नहीं हुआ था। उन्होंने कहा कि बोर्ड ने निर्णय लिया कि एसओएस की अलग विंग होनी चाहिए कि किस तरह एसओएस की गतिविधियां बढ़ाए और इसमे इनरोल होने वाले छात्रों को किस तरह सुविधा दी जाए इस पर काम किया जाएगा।

सुरेश सोनी ने कहा कि कार्यशाला में स्टडी सेंटर की समस्याएं, आईटी व शिक्षकों की आवश्यकता के बारे में बात रखी गई है, जिस पर उचित कदम उठाए जाएंगे, लेकिन शिक्षा में सुधार के लिए निजी संस्थानों को भी साथ आना होगा और व्यवस्था के साथ चलना होगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।