लॉकडाउन में स्कूल बुला लिए विद्यार्थी, किताबें देकर वापस भेजे…
April 12th, 2020 | Post by :- | 324 Views

कोरोना वायरस के चलते हिमाचल के स्कूल, कॉलेज और आईटीआई समेत अन्य शिक्षण संस्थान बंद हैं, लेकिन बड़सर के एक सरकारी स्कूल के विद्यार्थी शनिवार को वर्दी पहने बैग लेकर स्कूल पहुंच गए। सामाजिक दूरी और मास्क व सैनिटाइजर का भी ख्याल नहीं रखा गया। शिक्षा विभाग की कार्यप्रणाली को लेकर अभिभावकों ने सवाल उठाए हैं और सरकार से मामले की जांच की मांग उठाई है। शनिवार को जिले के एक हाई सरकारी स्कूल में यह मामला सामने आया है। जब उन बच्चों से पूछा गया कि आप कहां से आ रहे हो तो विद्यार्थियों ने बताया कि हमें स्कूल में किताबें लेने के लिए बुलाया गया था। स्कूल से किताबें लेकर घर जा रहे हैं। पूरे प्रदेश में स्कूल व कालेज लॉकडाउन के चलते बंद हैं तो ऐसी कौन सी मजबूरी हो गई कि स्कूल प्रशासन को किताबें लेने के लिए बच्चों को बुलाना पड़ा?

सरकारी स्कूल में लॉकडाउन नियमों की सरेआम धज्जियां उठाई गईं। इसकी चर्चा क्षेत्र में खूब हो रही है। बताते चलें कि केंद्र सरकार ने पूरे देश में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन की घोषणा की है। इस कारण प्रदेश के सभी शिक्षण संस्थान बंद पड़े हैं, लेकिन शनिवार को हमीरपुर के एक सरकारी स्कूल प्रशासन ने लॉकडाउन के परवाह न करते हुए स्कूल में विद्यार्थियों को वर्दियों व बैग के साथ किताबें लेने के लिए बुलाया गया। सरकार के आदेशानुसार सिर्फ किताबों की दुकानों को खोलने के आदेश हुए हैं। जिले के एक सरकारी स्कूल में बच्चों को बुलाकर किताबें दे दीं।
उधर, प्रारंभिक शिक्षा विभाग के उपनिदेशक बीके नड्डा ने बताया कि मीडिया के माध्यम से उन्हें यह जानकारी मिली है। सरकार की तरफ से अभी तक स्कूलों को खोलने के कोई आदेश नहीं मिले हैं। स्कूल में बच्चों को बुलाने के मामले की जांच की जाएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।