तिब्बती नववर्ष पर सुंगलाखांग बौद्ध मंदिर आंगतुकों के लिए तीन मार्च से खुलेगा #news4
February 28th, 2022 | Post by :- | 106 Views

धर्मशाला : तिब्बती नववर्ष पर सुंगलाखांग बौद्ध मंदिर को आंगतुकों के लिए तीन मार्च से खुलेगा। तिब्बती लोसर को तिब्बती नववर्ष कहा जाता है और इसी दिन मैक्लोडगंज के मुख्य बौद्ध मंदिर को अंगतुकों के लिए खोल दिया जाएगा। यह मंदिर पिछले कोरोना काल से बंद चल रहा था। नए तिब्बती वर्ष को लेकर थेखचेन चोलिंग चैरिटेबल सोसाइटी ने सभी को शुभकामनाएं दी है। थेकचेन चोलिंग ने बताया कि तिब्बती मुख्य मंदिर तिब्बती नववर्ष तीन मार्च से खुल जाएगा।

ऐसे में यहां आने वाले सभी आगंतुकों से अनुरोध है कि वे अपनी यात्रा के दौरान मंदिर परिसर में मास्क पहनें, सुरक्षित उचित दूरी रखें। मंदिर में प्रवेश करने से पहले अपने हाथ को सैनिटाइज करना न भूलें। लोगों की कोरोना से सुरक्षा व्यवस्था के लिए यह जरूरी है कि सभी कोरोना नियमों की पालना करें। कोरोना काल के बाद यह मंदिर अब खुल रहा है, लेकिन कोविड-19 के चलते सभी को एहतियात बरतनी होगी। इस मुख्य बौद्ध मंदिर में तिब्बती बौद्ध भिक्षु व तिब्बती अनुयायियों सहित भारत व भारत के बाहर रहने वाले तिब्बती अनुयायी व अन्य धार्मिक पर्यटक भी यहां पहुंचते रहे हैं। लेकिन कोरोना काल के दौरान से अन्य मंदिरों के साथ यह मंदिर भी बंद हो जाने से अनुयायी व लोग यहां तक नहीं पहुंच पा रहे थे। अब कोरोना काल में कुछ राहत मिली है तो अब इस मंदिर को तिब्बती नववर्ष के शुभ मौके पर खोला जा रहा है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।