शिमला में पानी के बिलों पर सुरेश कश्‍यप ने की अधिकारियों की खिंचाई #news4
February 21st, 2022 | Post by :- | 115 Views

शिमला : राजधानी में आज दिशा बैठक में भाजपा सांसद सुरेश कश्यप ने अधिकारियों की खिंचाई की। इसमें 28 विभागों की समीक्षा हुई। इसमें उपायुक्त आदित्य नेगी, नगर निगम के आयुक्त आशीष कोहली, जिला पुलिस अधीक्षक मोनिका भुटुंगरु, विधायक राकेश सिंघा और नगर निगम की महापौर सत्या कौंडल उपस्थित रहे। बैठक में बताया कि स्मार्ट सिटी के तहत 315 करोड़ प्राप्त हुआ है। इसमें से 213 खर्च हो चुके है, अभी तक कुल 34 प्रोजेक्ट पूरे हो चुके है। उन्होंने स्मार्ट सिटी पर एक डिटेल रिपोर्ट अधिकारियों से मांगी है। साथ ही कहा कि इस मसले पर अलग से बैठक होगी।

जो कार्य देरी से चल रहे है. उनकी गति शीघ्र बढ़ाई जाए। बैठक में शिमला जल प्रबंधन के अधिकारियों ने बताया कि गिरी परियोजना से पानी की क्षमता बढ़ाकर 24 घंटे पानी की सप्लाई का प्रोजेक्ट संजौली में चल रहा है, नाभा बालूगंज के लिए एक लाख लीटर क्षमता का टैंक बनाया जा रहा है। बैठक में सांसद ने पानी के भारी बिलों पर अधिकारियों की क्लास ली। एक घर का पानी का बिल 10 हजार आ रहा है। उन्होंने इस मसले के हल के लिए गंभीरता से काम करने के निर्देश दिए।

अभी तक गरीबों के बनाए जाने वाले घर पूरे क्यों नहीं बने

नगर निगम शिमला गरीबों को घर बनाने का काम करती है। सांसद ने पूछा कि 2016-17 के तहत 42 घर बनने थे, लेकिन अभी तक 32 ही बने हैं। 10 अभी तक क्यों नहीं बने हैं। पीएम स्ट्रीट वेंडर की राशि स्वीकृत की गई। एमपी लैड की समीक्षा में भी सुरेश कश्यप ने विस्तृत रिपोर्ट मांगी। 15वीं लोकसभा के 5 और 16वीं लोक सभा के 103 काम अभी तक पूरे नहीं हुए है। अगर काम पूरे नहीं हुए तो पैसा वापिस करना चाहिए।

सड़कों की टारिंग का काम शीघ्र करें पीडब्लयूडी

हिमाचल पीडब्ल्यूडी ने बताया की जिला शिमला में 2730.43 किलोमीटर की सड़क पक्की बन चुकी है, इस महकमें में सीआरएफ के 4 प्रोजेक्ट चल रहे है इसमे कॉम्बरमेर नाला प्रोजेक्ट पर अभी तक काम नही चल पाया है और चौपाल स्पैन ब्रिज का प्रोजेक्ट पूरा हो चुका है। उन्होंने पीडब्ल्यूडी डिपार्टमेंट से आग्रह किया की जल्द की सड़क टारिंग का समय आने वाला है। इस समय क्वालिटी का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए। सभी अधिकारियों ने अपनी अपनी समीक्षा सुरेश कश्यप के समक्ष रखी। कृषि विभाग ने बताया की राष्ट्रीय कृषि विकास योजना में 147 लाभार्थियों, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन में 770 लाभार्थियों को लाभ दिया गया, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में 518 लाभार्थियों को 558991रुपये का क्लेम दिया गया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।