फसल कटाई से पहले लेनी होगी मंजूरी, प्रशासन ने चार चरण और समय किया तय
April 13th, 2020 | Post by :- | 119 Views

जिला कांगड़ा में फसल कटाई 15 अप्रैल से शुरू होगी। प्रशासन ने सभी विकास खंडों के लिए अलग-अलग तिथियां निर्धारित कर दी हैं। बड़ी बात यह है कि कटाई कार्य बाबत जानकारी किसानों को पंचायत प्रधान व पटवारी के माध्यम से या सीधे तौर पर कृषि विकास अधिकारी को देनी होगी। प्रथम चरण में 15 अप्रैल, द्वितीय में 20 अप्रैल तथा तृतीय में 25 अप्रैल तथा अंतिम चरण में आलू की फसल निकालने का कार्य अप्रैल के अंतिम सप्ताह में किया जाएगा। फसल कटाई व गहाई का कार्य सुबह नौ से सायं छह बजे तक किया जाएगा।

चार चरणों में होगा कटाई का काम 0903 प्रशासन ने कटाई के काम के लिए जिला कांगड़ा को चार भागों में बांटा है। निचले क्षेत्र इंदौरा, नूरपुर, फतेहपुर व नगरोटा सूरियां में गेहूं व अन्य फसल कटाई का कार्य 15 अप्रैल से शुरू होगा। मध्य बेल्ट के चार विकास खंडों में परागपुर, रैत, देहरा व कांगड़ा में फसल कटाई का काम 20 अप्रैल, नगरोटा बगवां, धर्मशाला, भवारना, पंचरुखी, लंबागांव, भेड़ू महादेव व बैजनाथ में 25 अप्रैल व नगरोटा बगवां, धर्मशाला, भवारना, पंचरुखी, लंबागांव, भेड़ू महादेव (सुलह) व बैजनाथ में कटाई कार्य 25 अप्रैल से शुरू होगा। इसके अलावा अन्य कार्यो के लिए प्रशासन की ओर से तिथियां निर्धारित की जाएंगी। डीसी कांगड़ा ने किसानों को निर्देश दिए हैं कि नियमों के तहत ही फसल कटाई करें और प्रशासन को सहयोग दें।

किसानों को शारीरिक दूरी का रखना होगा ध्यान

किसानों को कटाई के दौरान शारीरिक दूरी का ध्यान रखना होगा। साथ ही मास्क का प्रयोग भी करना होगा। इसके साथ ही संबंधित क्षेत्रों में उपलब्ध संयुक्त मशीन का क्षेत्रवार आवंटन जिला कृषि उपनिदेशक पालमपुर की ओर से किया जाएगा। संयुक्त मशीन के ऑपरेटर व हेल्पर यदि बाहरी अथवा पंजाब क्षेत्र का होगा तो उसका पूर्ण ब्योरा कार्य आरंभ करने से पूर्व संबंधित कृषि विकास अधिकारी, कृषि प्रसार अधिकारी को उपलब्ध करवाना होगा तथा उसका पूर्ण स्वास्थ्य परीक्षण खंड चिकित्सा अधिकारी द्वारा किया जाएगा। जिला कृषि उपनिदेशक, कृषि विकास अधिकारी, कृषि प्रसार अधिकारी तथा खंड चिकित्सा अधिकारी संबंधित उपमंडलाधिकारियों की निगरानी में कार्यों का निष्पादन करेंगे। संयुक्त मशीन मालिकों तथा हेल्परों के रात्रि ठहराव के लिए अलग प्रबंध किया जाएगा।

हर विकास खंड में दो इनपुट डीलर्स की दुकानें खुलेंगी

फसल कटाई संबंधी संयुक्त मशीनों, ट्रैक्टरों व थ्रेशर की मरम्मत तथा सर्विस के मद्देनजर दो इनपुट डीलर्स की दुकानें प्रत्येक विकास खंड में प्रात: आठ से दो बजे तक खुली रहेंगी। डीजल तथा पेट्रोल पंप पूर्व निर्देशानुसार कार्य करते रहेंगे। यदि किसी मशीन का पुर्जा बाहरी क्षेत्र से लाना अनिवार्य होगा तो विशेष परमिट प्राप्त करना अनिवार्य होगा। परमिट कृषि उपनिदेशक पालमपुर अथवा उनके द्वारा अधिकृत अधिकारी द्वारा दिया जा सकेगा। इसके अलावा कोविड-19 की रोकथाम का प्रोटोकॉल समस्त किसानों, मशीन मालिकों, मरम्मत की दुकानों, इनपुट डीलर्स, पेट्रोल पंपों को अपनाना आवश्यक होगा। फसल कटाई, गहाई, ढुलाई, कंबाइन मशीन, ट्रैक्टर व थ्रेशर में कार्य कर रहे किसी व्यक्ति में यदि बुखार, फ्लू, सांस लेने में तकलीफ या सूखी खांसी के लक्षण पाए जाते हैं तो इस बाबत सूचना प्रशासन को देनी होगी। अगर कोई व्यक्ति इस संबंध में प्रशासन के आदेश का उल्लंघन करेगा तो कार्रवाई की जाएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।