पांवटा साहिब के जुनेजा अस्पताल के डाक्टर ने महिला के पेट से निकली 32 किलो की रसौली #news4
September 3rd, 2022 | Post by :- | 52 Views

नाहन : जिला सिरमौर के पांवटा साहिब उपमंडल के सूरजपुर में स्थित मैनकाइंड ग्रुप द्वारा संचालित जेसी जुनेजा मल्टी स्पेशलिस्ट अस्पताल ने नया कीर्तिमान स्थापित किया है। अत्याधुनिक तकनीक के सहारे युवा सर्जन डाक्टर ने 32 किलो की रसौली निकालकर महिला को नया जीवन दिया है। जिससे पावंटा क्षेत्र ही नहीं, साथ लगते राज्य में भी खासी चर्चा हो रही है। जानकारी अनुसार जेसी जुनेजा मल्टी स्पेशलिस्ट अस्पताल सूरजपुर के डाक्टर नीलेश जगणे (सर्जन) ने यह कीर्तिमान स्थापित करते हुए महिला के पेट से 32 किलो की रसौली निकाली है।

बताया जा रहा है कि 42 वर्षीय परवीन बेगम को लंबे समय से पेट में रसौली के कारण दर्द व तकलीफ रहती थी। अस्पताल में डाक्टरों ने एक टीम गठित कर पहले बीमारी को लेकर गहन मंथन किया। फिर उसके बाद अत्याधुनिक तकनीक व प्रबंधक के सहयोग से इस आपरेशन को करने की ठान ली। हालांकि इस आपरेशन को करने में मरीज की जान को भी बहुत ज्यादा खतरा बना हुआ था, फिर भी उन्होंने सफलतापूर्वक यह आपरेशन कर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया। 42 वर्षीय महिला का वजन पहले 70 किलो था, जिसमें से 32 किलो रसौली निकालकर अब वह 38 किलो रह गई है। महिला अभी भी अस्पताल में एडमिट है, लेकिन खतरे से बाहर है।

जेसी जुनेजा अस्पताल प्रबंधक ने जहां एक और युवा सर्जन डाक्टर नीलेश जगणे की तारीफ की है। वहीं उनके सहयोगी डाक्टर अवकाश कुमार हड्डी रोग विशेषज्ञ, डाक्टर रोमानी बंसल बाल रोग विशेषज्ञ, डा रजत मंगला एनेस्थीसिया को भी इस कामयाबी के लिए बधाई दी है। युवा सर्जन नीलेश जगणे का कहना है कि उनके जीवन में यह पहला ऐसा केस होगा, जिसमें इतनी भारी-भरकम मात्रा में रसौली निकाली गई है। उन्होंने आशंका व्यक्त की है कि यह पूरे नार्थ भारत में पहला ऐसा मामला होगा, जिसमें इतने भारी भरकम वजन की रसौली निकालने बाद भी मरीज सुरक्षित है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।