घुमारवीं पुल के साथ बने बाईपास के कारण मिटा पुराने रास्ते का वजूद #news4
April 14th, 2022 | Post by :- | 111 Views

घुमारवीं : घुमारवीं के एक छोर से शहर के अंदर प्रवेश करने के लिए बनाए वर्षो पुराने मुख्य पैदल रास्ते को उखाड़ने के बाद आज तक इसे ठीक करने की जहमत नहीं उठाई गई। घुमारवीं पुल के पास से शहर के लिए एक बाईपास सड़क का निर्माण किया गया है जिसका शिलान्यास खाद्य आपूर्ति मंत्री राजिंद्र गर्ग ने किया था, जिसे बनाने के लिए इस रास्ते पर बनी पौड़ियों को उखाड़ दिया गया था। घुमारवीं ग्रीष्मोत्सव के मद्देनजर इस सड़क का निर्माण तत्काल शुरू किया गया जिसके लिए पुराने शहर के एक छोर पर बने इस मुख्य पैदल रास्ते उखाड़ना पड़ा था, लेकिन सड़क का निर्माण भी पूरा हो गया, परंतु उस रास्ते को आज तक ठीक नहीं किया जा सका। जेसीबी से उखाड़े पुराने रास्ते में लोगों का आवागमन प्रभावित हो रहा है। बाईपास सड़क निर्माण के लिए इस रास्ते की इस प्रकार कटिग की गई थी आधे रास्ते से करीब नीचे की तरफ 20 फुट एक खाई बन गई है। तहसील परिसर तथा शहर की अन्य प्रमुख स्थानों पर पहुंचने के लिए शहर के बाहर से आने वाले कई गांवों के लोगों का पैदल प्रवेशद्वार यही है। यही नहीं घर से पैदल स्कूल पहुंचने वाले बच्चों का आना-जाना भी इसी रास्ते से होता है। इन्हें अब मुश्किल हो रही है।

अभी सड़क का काम चला हुआ था जिस कारण रास्ते को ठीक नहीं किया जा सका, लेकिन दो-तीन दिन के भीतर ही इसे पूरी तरह से ठीक कर दिया जाएगा। उसके बाद लोगों को दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा।

-दीपक कपिल, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग घुमारवीं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।