शिमला में सीजन का पहला हिमपात, जाखू ने ओढ़ी सफेद चादर #news4
January 8th, 2022 | Post by :- | 132 Views

शिमला : जिला में पिछले कई महीनों से सूखे की स्थिति थी, लेकिन ऊपरी शिमला में पिछले दो दिन व राजधानी में शनिवार को साल के पहले हिमपात ने इसे खत्म कर दिया। जाखू मंदिर से लेकर शहर के चारों तरफ के पहाड़ रिज मैदान सहित सफेद चादर से ढके थे। सैलानियों के लिए वीकएंड पर पड़ी बर्फ सौगात साबित हुई, लेकिन कोरोना के डर से सैलानियों की संख्या अन्य वीकएंड के मुकबले कम रही। बर्फबारी के बाद शिमला जिला में करीब 150 रूट बसों के बंद रहे।

शिमला शहर में भी सीजन की पहली बर्फबारी हुई हैं। शुक्रवार रात को हुई बर्फबारी का असर सड़क यातायात पर पड़ा है। जिले के ग्रामीण और दूरदराज की सड़कें बंद पड़ी हुई हैं। इसके चलते इन पर बसें नहीं चल रही। इसका असर सबसे ज्यादा ऊपरी शिमला में देखने को मिला है। कोटखाई, रोहडू, चौपाल, नेरवा ननखड़ी और ठियोग के सभी सड़क मार्ग फिलहाल बंद हैं। रोहडू के लिए जाने वाले खड़ापत्थर, चौपाल के खिड़की, नारकंडा , कुफरी, डोडरा क्वार, रामपुर का सुंंगरी, खदराला मार्ग बंद होने से वाहन फंसे रहे। निगम की 45 बसें विभिन्न इलाकों में फंसी है। नारकंडा में बर्फ गिरने के कारण अब शिमला से रामपुर, किन्नौर और कुल्लू के आनी-निरमंड की ओर जाने वाली बसों को वाया बसंतपुर होकर भेजा जा रहा है।

मौसम ने ली करवट, जिले में ठंड बढ़ी

मौसम ने प्रदेश में एक बार फिर करवट ले ली है, अपर शिमला में हुए ताजा हिमपात से शीतलहर तेज हो गई है। वहीं अधिकत्तम व न्यूतम तापमान में कटौती आई है। इससे शिमला सहित जिला के सभी क्षेत्रों में लोगों ने गर्म कपड़े, जैकेट व स्वैटर निकाल लिए हैं। बर्फबारी से निपटने के लिए नगर निगम, जिला प्रशासन ने तैयारियां फील्ड में दिख रही है। सड़कों से बर्फ हटाने के लिए मशीनरी लगा दी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।