रिकांगपीओ के रामलीला मैदान में राष्ट्रीय ध्वज का स्तम्भ खाली, दो माह से नहीं लहरा रहा तिरंगा #news4
February 22nd, 2022 | Post by :- | 97 Views

किन्नौर : जिला मुख्यालय रिकांगपिओ के रामलीला मैदान में लगभग पिछले दो महीनों से तिरंगा झंडा नहीं लहरा रहा है, क्योंकि स्तम्भ पर तिरंगा झंडा नहीं लगाया गया है। जिससे भाजपा के शासन काल व प्रशासन की नाक के नीचे राष्ट्र का अपमान हो रहा है। यह बात प्रदेश युवा कांग्रेस के पूर्व महासचिव कुलवंत नेगी ने मीडिया से रूबरू होते हुए कही। कुलवंत नेगी ने कहा कि ऐसे तो केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार द्वारा आजादी का 75वां महोत्सव मनाया जा रहा है। उस पर किए जा रहे कार्यक्रमों में पर लाखों रुपए खर्च किए जा रहे हैं, परन्तु जिला मुख्यालय रिकांगपिओ के राम लीला मैदान में तिरंगे झंडे को लगाने के लिए बनाया गया स्तम्भ लगभग पिछले दो माह से खाली पड़ा हुआ है।

उन्होंने यह भी कहा कि हैरानी की बात है कि रामलीला मैदान में जहां तिरंगे झंडे के लिए स्तम्भ बनाया गया है वहीं उसके सामने मिनी सचिवालय सहित सभी प्रशासनिक अधिकारियों के कार्यालय हैं परन्तु फिर भी तिरंगे झंडे का स्तम्भ बिना झंडे के खाली ही पड़ा हुआ है। उन्होंने यह भी कहा कि तिरंगा झंडा राष्ट्र के साथ साथ देश, प्रदेश व जिला की शान है, परन्तु गणतंत्र दिवस पर भी यहां पर झंडे को नहीं लगाया गया, जिससे राष्ट्र का अपमान हुआ है। उन्होंने प्रदेश सरकार व जिला प्रशासन से मांग की है कि रामलीला मैदान में शीघ्र तिरंगा झंडा लगाया जाए।

वही इस विषय मे डीसी किन्नौर आबिद हुसैन सादिक ने कहा कि रामलीला मैदान मे मल्टी स्टोरी पार्किंग के निर्माणाधीन के समय उड़ रही धूल से मैदान मे स्थित राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा पर धूल मिट्टी लग रही थी, ऐसे में ध्वज खराब हो रहा था। जिसको देखते हुए प्रशासन ने राष्ट्रीय ध्वज को ध्वज स्तम्भ से उतारा है। जैसे ही रामलीला मैदान मे मल्टी स्टोरी पार्किंग का काम समाप्त हो जाएगा तुरंत राष्ट्रीय ध्वज को स्तम्भ पर फहराया जाएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।