सरकार ने पिछले 4 वर्षों में हर वर्ग के उत्थान के लिए काम किया : जयराम #news4
March 2nd, 2022 | Post by :- | 313 Views

शिमला : राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के जवाब में मुख्यमंत्री ने सदन में बताया कि अभिभाषण में 41 सदस्यों ने भाग लिया, जिसमें 20 सत्तापक्ष, 19 विपक्ष, 1 सीपीएम और 1 निर्दलीय सदस्य ने भाग लिया। साढ़े 15 घंटे तक राज्यपाल के अभिभाषण पर सार्थक चर्चा हुई। राज्यपाल के अभिभाषण में सरकार के काम का लेखा-जोखा होता है और उसके बाद उसमें चर्चा होती है जो कमियां होती हैं उसमें सुधार के लिए सुझाव आते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्यपाल के अभिभाषण को विपक्ष ने पूरा नहीं सुना और बाहर चले गए और आज भी विपक्ष का पता नहीं है कि कितनी देर तक अंदर हैं। विपक्ष बच्चों की तरह जिद्द पर अड़ जाता है। सरकार ने पिछले 4 वर्षों में हर वर्ग के उत्थान के लिए काम किया है। सरकार कभी किसी की स्थायी नहीं होती है आना-जाना लगा रहता है लेकिन सरकार के उठाए गए कदमों का हमेशा जिक्र होता है।

सरकार ने कभी भी बदले की भावना से काम नहीं किया

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार द्वारा 20 हजार गऊएं आज सड़कों से गौसदन में भेजी गई हैं। सरकार ने कभी भी बदले की भावना से काम नहीं किया। लोगों की समस्या के लिए सरकार ने जनमंच कार्यक्रम शुरू किया है, जिसमें 241 जनमंच किए और 48478 समस्याओं का घर में समाधान किया है। उज्ज्वला योजना के माध्यम से लोगों को गैस चूल्हा दिया गया है और इस योजना से छूटे हुए लोगों के घर में गृहिणी सुविधा योजना के माध्यम से 3 लाख 25 हजार चूल्हे लोगों के घर में पहुंचाए हैं। सरकार ने हिमकेयर योजना के माध्यम से मुफ्त इलाज देकर 2 लाख 27 हजार लोगों के स्वास्थ्य के लिए 201 करोड़ खर्च किया। सहारा योजना के माध्यम से हर महीने लाभ 3 हजार शारीरिक रूप से असहाय को पहुंचाया जाया जा रहा है। मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के माध्यम से लोगों को आजीविका का रास्ता ढूंढा और 2231 लोगों ने इससे रोजगार मिला है और इसमें 100 करोड़ रुपए खर्च किया गया है। मुख्यमंत्री हैल्पलाइन योजना 1100 के माध्यम से लोगों की समस्या का समाधान किया गया है।प्राकृतिक खेती का मॉडल हिमाचल प्रदेश में अपनाया गया हैजिसकी देश भर में प्रशंशा हो रही है। इन्वैस्टर मीट के माध्यम से प्रदेश में इन्वैस्टमैंट लाने का प्रयास किया गया है। साढ़े 13 करोड़ की पहली ग्राऊंड ब्रेकिंग सैरेमनी करवाई है, जिसका 95 फीसदी काम धरातल पर उतर गया है।

कांग्रेस ने 5 वर्ष में लिया  28707 करोड़ का कर्ज

2012-2017 तक 48 हजार का कर्ज था, जिसमें 28 हजार 707 करोड़ का कर्ज कांग्रेस सरकार ने 5 वर्षों में लिया जबकि 63 हजार 200 करोड़ का कर्ज वर्तमान में सरकार पर है। सरकार का 4 वर्षों में कर्ज 32 फीसदी है जबकि कांग्रेस सरकार में 67 प्रतिशत था। कोविड में पूरे देश में अर्थव्यवस्था तहस-नहस हुई है। कांग्रेस के समय में प्रदेश में केवल 2 ऑक्सीजन प्लांट थे और वैंटिलेटर की संख्या भी नाममात्र थी जबकि वर्तमान में 1014 वैंटिलेटर प्रदेश में मौजूद हैं, जिसमें 982 कार्यरत हैं। ऑक्सीजन सिलैंडर भी बहत कम थे लेकिन आज 17 हजार सिलैंडर प्रदेश में हैं। नशा माफिया पर सरकार शिकंजा कस रही है एक-एक को पकड़ कर सलाखों के पीछे डाला गया है। जहरीली शराब से लोगों की मौत का दुख है लेकिन सरकार ने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है।

यूक्रेन में फंसे बच्चों को सुरक्षित निकालने के लिए प्रयास कर रही सरकार

मुख्यमंत्री ने कहा कि जो बच्चे यूक्रेन में फंसे हैं, सरकार उन्हें सुरक्षित निकालने के लिए प्रयास कर रही है। बच्चों से मुख्यमंत्री ने खुद भी बात की है। कीव से हिमाचल के 8 छात्रों को लाया गया है। खारकीव में ज्यादा परेशानी है। एक छात्र की वहां मृत्यु भी हुई है। यूक्रेन के हालात फिलहाल ठीक नहीं हैं लेकिन सरकार फिर भी लगातार बच्चों को सुरक्षित निकालने का रास्ता ढूंढ रही है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।