सूर्य का महापरिवर्तन, 6 राशियों को देगा खुशियों का नवजीवन, 6 राशियों को रहना होगा सतर्क #news4
September 17th, 2022 | Post by :- | 69 Views

Kanya Sankranti 2022 : 17 सितंबर 2022 शनिवार को सूर्य ने कन्या राशि में गोचर किया है। सूर्य के इस राशि परिवर्तन को कन्या संक्रांति कहते हैं। इस राशि परिवर्तन का सभी 12 राशियों पर शुभ और अशुभ प्रभाव देखने को मिलेगा। आओ जानते हैं कि किन 6 राशियों के लिए शुभ और किन 6 राशियों के लिए सूर्य का यह गोचर अशुभ है।

सूर्य का 6 राशियों पर सकारात्मक प्रभाव | Positive effect of sun on 6 zodiac signs
1. मेष राशि : सूर्य आपकी राशि के छठे भाव में गोचर कर रहा है। इस दौरान आपके जीवन की सभी बाधाएं दूर होकर आपके सभी कार्य पूर्ण होंगे। आपकी सेहत में सुधार होगा और कार्यस्थल पर शत्रु परास्त होंगे। करियर में सफलता मिलेगी। व्यापारी हैं तो अच्‍छा लाभ कमाने में सफल होंगे। पारिवारिक माहौल भी सकारात्मक रहेगा।
2. कर्क राशि : सूर्य आपकी राशि के तीसरे भाव में गोचर कर रहा है। सेहत संबंधी सभी परेशानियों दूर होगी। करियर और नौकरी में सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे। व्यापारी हैं तो पराक्रम से लाभ कमाने में सक्षम होंगे। आपका मान सम्मान बढ़ेगा। पारिवारिक जीवन में भी भाई-बहनों से सहयोग मिलेगा। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी।
3. तुला राशि : आपकी राशि के द्वादश भाव में सूर्य का गोचर कार्य के सिलसिले में विदेशी यात्रा या लंबी यात्रा पर जाने के योग बनाएगा। कई बड़े लोगों से आपकी मुलाकात होगी। समझदारी से आगे बढ़े तो आर्थिक पक्ष मजबूत बनेगा। शत्रुओं से सावधान रहें। वाणी में संयम रखें।
4. वृश्चिक राशि : सूर्य आपकी राशि के एकादश भाव में गोचर कर रहा है। इस गोचर से जीवन में सकारात्मक बदलाव होंगे। आय के स्रोतों में वृद्धि होगी और भाग्य का साथ मिलेगा। नौकरी और व्यापार में लाभ होगा। पिता और धर्म का सम्मान करेंगे तो उन्नति के मार्ग की सभी बाधाएं दूर हो जाएगी।
5. धनु राशि : आपकी राशि के दशम भाव में सूर्य का गोचर शुभ रहेगा। कार्यक्षेत्र में प्रगति करेंगे और व्यापारी हैं तो लाभ कमाएंगे। नौकरी में प्रमोशन के योग बनेंगे। आर्थिक समस्याओं से निजात मिलेगी। समाज में आपका मान-सम्मान भी बढ़ेगा। परिवार में खुशियां बनी रहेगी।
6. मकर राशि : आपकी राशि के नवम भाव में सूर्य का गोचर शुभ है। तीर्थ यात्रा के योग बनेंगे। धर्म और पिता का सम्मान करेंगे तो सभी संकट दूर हो जाएंगे। खानपान में परहेज और क्रोध पर नियंत्रण रखना होगा।
सूर्य का 6 राशियों पर नकारात्मक प्रभाव । Negative effect of sun on 6 zodiac signs
1. वृषभ राशि : आपकी राशि के पंचम भाव में सूर्य का गोचर कष्‍टदायक साबित हो सकता है। मानसिक तनाव में वृद्धि दे सकता है। किसी बड़े निर्णय को लेने में समझदारी से काम लें। पारिवारिक जीवन में भी कोई वाद-विवाद होने की आशंका है। कार्यक्षेत्र में लोगों से संबंध बिगड़ सकते हैं। सोच विचार कर ही कोई निर्णय लें।
2. मिथुन राशि : आपकी राशि के चतुर्थ भाव में सूर्य का गोचर सुख और सुविधाओं को प्रभावित करेगा। मानसिक तनाव में वृद्धि की संभावना है। यात्रा से परेशानी खड़ी हो सकती है। पारिवारिक जीवन में कुछ अशांति का माहौल रहेगा। हालांकि कार्यक्षेत्र में अच्छे व लाभदायक अवसर प्राप्त होंगे।
3. सिंह रशि : आपकी राशि के द्वितीय भाव में सूर्य का गोचर परिवार से मनमुटाव को जन्म देगा। आपको अपनी वाणी पर संयम रखना होगा। किसी भी प्रकार का निर्णय लेने से पहले अच्‍छे से सोच विचार कर लें। सेहत का ध्यान रखना होगा। लेन-देन में सावधानी बरतने की ज़रूरत होगी। नौकरी या व्यापार में मिलाजुला परिणाम देखने को मिलेगा।
4. कन्या राशि : आपकी राशि के प्रथम भाव में सूर्य का गोचर आपके स्वभाव और सेहत पर असर डालेगा। यदि आपने समझदारी और संयम से काम लिया तो दांपत्य जीवन और साझेदारी के व्यापार में अच्‍छे परिणाम देखने को मिल सकते हैं। लेन-देन में सावधानी बरतना होगी। विदेश यात्रा के भी योग बन सकते हैं।
5. कुंभ राशि : आपकी राशि के अष्‍टम भाव में सूर्य का गोचर अचानक से लाभ या हानि का निर्माण करेगा। वाद-विवाद का सामना करना पड़ सकता है। आपको समझदारी से काम लेना होगा। गैरकानूनी कार्यों से दूर रहें। जीवनसाथी की सेहत का ध्यान रखना होगा। बढ़ते खर्चें आपके लिए तनाव का कारण बन सकते हैं।
6. मीन राशि : आपकी राशि के सप्तम भाव का सूर्य आपके दांपत्य जीवन और साझेदारी के व्यापार को प्रभावित करेगा। दोनों ही मामलों में आपको संयम और समझदारी से काम लेना होगा। सेहत का ध्यान रखना होगा। हालांकि खुद के व्यपार है तो लाभ मिलेगा। नौकरी में मिलाजुला परिणाम देखने को मिलेगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।