हर घर पाठशाला’ से फैल रहा ज्ञान का उजाला विद्यार्थियों के लिए मददगार बनी डीडी शिमला की ज्ञानशाला …
April 30th, 2020 | Post by :- | 224 Views

मंडी, 30 अप्रैल : ‘ज्ञानशाला कार्यक्रम हमारे लिए बड़ा मददगार साबित हो रहा है, इसमें हमारे सिलेबस से जुड़े टॉपिक बड़े रोचक तरीके से पढ़ाए जा रहे हैं, पढ़ने में मजा आ रहा है।’ यह केवल सुंदरनगर के राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला की बारहवीं की छात्रा नेहा शर्मा का ही कहना नहीं है, हिमाचल सरकार के दूरदर्शन ज्ञानशाला कार्यक्रम से लाभान्वित होने वाली उन जैसी हजारों होनहार छात्राओं व छात्रों के भाव भी उनके बयान में शामिल हैं।

गौरतलब है कि हिमाचल सरकार ने कोरोना संकट के बीच स्कूल बंद होने के चलते 10वीं व 12वीं के बच्चों के लिए ई-लर्निंग और टीचिंग आरंभ की है। डीडी शिमला चैनल पर हर रोज सुबह 10 से 1 बजे तक 3 घंटे की ‘हर घर पाठशाला’ की यह पहल बच्चों के लिए बेहद कारगर सिद्ध हो रही है। इसे विभिन्न विषयों पर निरंतर तीन घंटे समयसारिणी के अनुसार चलाया जा रहा है।

सरकाघाट की राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला की 12 वीं की छात्रा गिरीषा, सुंदरनगर के राजकीय छात्र पाठशाला के प्रभजोत सिंह, की और महावीर पब्लिक स्कूल की 10वीं की छात्रा नंदिनी का कहना है कि घर पर टीवी चैनल से उन्हें पढ़ाई का एक नया अनुभव हुआ है, ये उनके लिए पढ़ाई का नया तरीका है, जो रूचिकर लग रहा है।

हर घर पाठशाला कार्यक्रम से लाभान्वित होने वाले सभी विद्याार्थियों ने एकस्वर में हिमाचल सरकार की इस पहल को शानदार बताते हुए इस सुविधा के सरकार व डीडी शिमला का आभार जताया है ।

डीडी शिमला सभी केबल नेटवर्क के साथ साथ एयरटेल डीटीएच के चैनल नंबर 406 पर भी उपलब्ध है।
उच्च शिक्षा विभाग मंडी कार्यालय के अधिकारियों का कहना है कि जिला के 10वी, 12वीं के विद्यार्थी डिस्टेंस लर्निंग कार्यक्रम का लाभ उठा रहे हैं। इसके अलावा अध्यापक 10वीं, 12वी के अलावा अन्य कक्षाओं के विद्यार्थियों को व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर पढाई करवा रहे हैं। जिन बच्चों के अभिभावकों के पास समार्ट फोन नहीं है, उनका फोन पर पढ़ाई को लेकर मार्गदर्शन कर रहे हैं।
सरकार आकाशवाणी के माध्यम से भी अधिकतम विद्यार्थियों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।