बड़ी लापरवाही: होम क्वारंटाइन में रखा शख्स खुद ही पहुंच गया अस्पताल, ओपीडी में भी पहुंचा
March 25th, 2020 | Post by :- | 151 Views

होम क्वारंटाइन किया गया एक काेरोना वायरस का संदिग्ध रोगी बुधवार को क्षेत्रीय अस्पताल पहुंच गया। जो लोग होम क्वारंटाइन किए गए हैं उन्हें स्वास्थ्य महकमे की ओर से किसी भी परिस्थिति में घर से बाहर न निकलने की सलाह दी है। इस बीच करीब एक घंटे तक संदिग्ध मरीज अस्पताल में घूमता रहा। इस कोरोना के संदिग्ध को रोकने के लिए कोई इंतजाम नहीं हो पाया। हालांकि यह युवक खांसी होने और गले में दर्द होने की बात करके अपने टेस्ट भी करवाता रहा। इसके बाद इमरजेंसी में तैनात चिकित्सक ने उन्हें होम क्वारंटाइन का पालन करने के लिए कहा। हालांकि वह युवक वहां से चला गया और ओपीडी तक जा पहुंचा।

विशेषज्ञ की ओपीडी में रखी कुर्सियों पर भी यह संदिग्ध काफी देर तक बैठा रहा। उसके वहां होने की सूचना मुख्य चिकित्सा अधिकारी को देने का प्रयास किया गया, लेकिन इस बीच जिला प्रशासन की एक अति महत्वपूर्ण बैठक में व्यस्तता के कारण उनसे संपर्क नहीं हो पाया। हालांकि बाद में पुलिस के कुछ जवान भी उस युवक से पूछताछ करने लगे। बताया जा रहा है कि हाल ही में यह युवक विदेश से लौटा था और उसका पूरा परिवार होम क्वारंटाइन में रखा गया है। कर्फ्यू में भी यह युवक अपने वाहन पर पुलिस को चकमा देकर अस्पताल तक पहुंच गया और अपनी बीमारी के बारे में तथा स्थिति के बारे में किसी को भनक नहीं लगने दी।

बताया जा रहा है कि इस युवक के खिलाफ होम क्वारंटाइन नियमों का पालन न करने पर सख्त कार्रवाई अमल में लाने की तैयारी चल रही है। उधर जिले में होम कवारंटाइन पर रखे गए रोगियों को लेकर क्या सुविधाएं दी जा रही हैं इस संबंध में जिला चिकित्सा अधिकारी की ओर से विशेष गाइडलाइन जारी की गई है। उन्हें किसी तरह से भी बाहर निकलने की अनुमति नहीं है, लेकिन घर पर ही चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाए जाने की व्यवस्था की गई है। बहुत जरुरी हो तो उन्हें विशेष एंबुलेंस सुविधा से ही अस्पताल तक लाए जाने की व्यवस्था की गई है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।