बुरास के फूलों से गुलजार होने लगी सिरमौर जिला के ऊपरी क्षेत्रों की वादियां #news4
March 12th, 2022 | Post by :- | 400 Views

नाहन : सिरमौर जिला के नौहराधार, राजगढ़, संगड़ाह, पच्छादव हरिपुरधार क्षेत्र के एक बड़े भू-भाग पर बुरास के रूप में रोजगार का एक बड़ा खजाना छिपा है। इस खजाने की और आज तक सरकार की नजर नहीं गई है। इसलिए इसे तलाशने के लिए सरकार की ओर से अब तक कोई प्रयास नहीं किए गए है। सरकार यदि बुरास के दोहन के लिए कोई कारगर कदम उठाती है, तो इससे सरकारी खजाने में जहां भारी इजाफा होगा, वहीं दूसरी और क्षेत्र के लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान हो सकते हैं। जिला सिरमौर के संगड़ाह व हरिपुरधार क्षेत्र में सबसे अधिक बुरास होने के कारण इसे प्रदेश की सबसे बड़ी बुरास घाटी मानी जाता है।

क्षेत्र के जंगलों में लगभग 30 फीसदी पेड़ बुरास के है। सिरमौर जिले के डल्यानु से लेकर चूड़धार तक लगभग 30 किमी लंबा क्षेत्र हर साल बुरास के फूलों से गुलजार होता है। हरिपुरधार के अलावा नौहराधार, सराहां व राजगढ़ की बादियां भी बुरास के लाल रंगो के फूलों से महक उठती है। इन वादियों में बुरास के फूल मार्च, अप्रैल व मई महीने तक अपना अद्वभुत सौंदर्य बिखेरते हैं। बुरास के फूलों से लदी वादियों को देखकर पर्यटकों के चहरे भी खुशी से खिल उठते हैं। मगर विडंबना यह है कि सरकार की और से इस क्षेत्र को पर्यटन क्षेत्र के रूप में विकसित न किए जाने, सुविधाओं की भारी कमी व प्रचार व प्रसार के अभाव के चलते कम संख्या में पर्यटक यहां पहुंचते है। बुरास के फूलों में कई प्रकार के औषधीय गुण हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि बुरास के फूल जहां हार्ट की बीमारी की दवा बनाने के लिए लिए कारगर साबित हो सकते हैं।

वहीं इसका उपयोग स्कवाश बनाने के साथ साथ जैम व चटनी बनाने में किया जाता है। इसके अलावा बुरास के रस से अन्य कई प्रकार की दवाइयों को बनाया जा सकता है। जानकारों का कहना है कि बुरास के दोहन के लिए यदि सरकार कोई प्रोजेक्ट तैयार करती है, तो उससे क्षेत्र के सैकड़ों बेरोजगार युवाओं को जहां रोजगार के अवसर प्रदान हो सकते हैं। वही सरकार को राजस्व के रूप में करोड़ो रुपये की आमदनी हो सकती है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।