जिला कुल्‍लू के चार स्ट्रांग रूम का जिम्मा 200 जवानों के हवाले #news4
November 15th, 2022 | Post by :- | 59 Views

कुल्‍लू : जिला कुल्लू के चार स्ट्रांग रूम का जिम्मा 200 जवान संभाल रहे हैं। इसमें पैरामिलिट्री सहित पुलिस के जवान शामिल है। कुल्लू जिला के कुल्लू हलके का स्ट्रांग रूम राजकीय महाविद्यालय कुल्लू में बनाया गया है जबकि मनाली का वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय मनाली, बंजार हलके में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बंजार में, आनी हलके का आनी महाविद्यालय के स्ट्रांग रूम बनाया गया है। प्रत्येक स्ट्रांग रूम में 50 जवानों की तैनाती की गई है। इन चार हलकों में इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन को सील करके रखा गया है। स्ट्रांग रूम के लिए तीन स्तर पर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं।

स्ट्रांग रूम 24 घंटे सुरक्षा कर्मचारियों की निगरानी में

स्ट्रांग रूम 24 घंटे सुरक्षा कर्मचारियों की निगरानी में है। जो सुरक्षा के तीन घेरे बनाकर स्ट्रांग रूम के चारों ओर अपनी ड्यूटी दे रहे हैं। पहले घेरे में कंपनियों के छह-छह जवानों की तैनाती की गई है। दूसरे घेरे में आर्म्ड पुलिस ईवीएम की सुरक्षा के लिए तैनात है। तीसरे घेरे में जिला की पुलिस का कड़ा पहरा है। यह सभी जवान बारी बारी करके 24 घंटे ईवीएम की सुरक्षा प्रदान कर रहे हैं। इसके साथ ही मुख्य गेट पर विजिटर रजिस्टर रखा गया है, जिस पर आने वाले किसी भी अधिकारी को अपनी प्रविष्टि करवानी पड़ती है। स्ट्रांग रूम को आठ दिसबंर वाले दिन उम्मीदवारों और आब्जर्वरों की उपस्थिति में ही खोला जाएगा और वोटों की गिनती का काम शुरू किया जाएगा।

आठ दिसंबर को होगी मतगणना

जिला के चार हलकों में 24 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला आठ दिसंबर को होगा। इतने लंबे समय में सभी प्रत्याशी जोड़ जमा करने में जुटे हैं। जिला के चारों हलकों में इस बार छह छह प्रत्याशी के भाग्य आठ दिसंबर तक ईवीएम में कैद है। अब जिला में मतगणना के लिए तैयारियां करनी आरंभ कर दी है। पुलिस अधीक्षक गुरदेव शर्मा ने कहा कि मतों की गणना तक ईवीएम की सुरक्षा करना बड़ी जिम्मेदारी वाला काम है। जिसे निभाने के लिए सभी जवान तैनात है। ईवीएम को सुरक्षा के कड़े पहरे में आठ दिसंबर तक सुरक्षित रखा गया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।