लोहागढ़ में बाबा बंदा बहादुर के ऐतिहासिक किले की सेवा शुरू #news4
June 19th, 2022 | Post by :- | 79 Views

नाहन : नाहन विधानसभा क्षेत्र के लोहागढ़ में बाबा बंदा सिंह बहादुर के ऐतिहासिक किले की सेवा रविवार से शुरू हो गई। 2007 में प्रदेश सरकार ने यहां बाबा बंदा सिंह बहादुर के ऐतिहासिक किले को स्थापित करने के लिए भूमि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी पांवटा साहिब को दी थी।

गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी पांवटा साहिब के प्रधान हरभजन सिंह, मैनेजर जगीर सिंह, गुरमीत सिंह आदि ने बताया कि बाबा बंदा सिंह बहादुर के ऐतिहासिक लोहगढ़ किले को स्थापित करने के लिए गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी पांवटा साहिब ने रविवार को निशान सहित चढ़ाकर विधिवत कार सेवा का शुभारंभ कर दिया है। यहां बाबा बंदा सिंह बहादुर की याद मेंं किले को स्थापित करने समेत उनके द्वारा यहां किए गए कार्यों को प्रदर्शित किया जाएगा। 1709 में यहां बाबा बंदा सिंह बहादुर ने लोहगढ़ में रहना शुरू किया था और यहां लोहगढ़ किले को सिखों की राजधानी स्थापित किया था।

यह है इतिहास

उन्होंने बताया कि यहां पर बाबा बंदा सिंह बहादुर द्वारा सिक्के व मोहरें भी जारी की थी। यहां पर बहादुर शाह के साथ बाबा बंदा सिंह बहादुर की डेढ़ महीने जंग होती रही, जिसमें करीब 1600 सिख सैनिक शहीद भी हुए थे। बाबा बंदा सिंह बहादुर लोहगढ़ किले में करीब साढ़े पांच साल रहे। बाबा बंदा सिंह बहादुर व युद्ध में इस्तेमाल शस्त्रों की यहां प्रतिमाएं स्थापित की जाएंगी। इसके अलावा यहां उस समय बनाए गए किले का स्वरूप भी एक बार फिर तैयार किया जाएगा।

अटूट लंगर का आयोजन

इस मौके पर यहां आयोजित कार्यक्रम के समापन पर गुरु का अटूट लंगर बरताया गया। ठंडे पानी की छबील भी लगाई गई, जिसमें सैकड़ों की संख्या में लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया। इस अवसर पर गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के गुरमीत सिंह, राजन सिंह, हरप्रीत सिंह, अमनदीप सिंह समेत अन्य लोग उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।