नूरपुर में बेसहारा पशु दुकान में जा घुसे, दरवाजा टूटा, दुकानदार ने भागकर बचाई जान #news4
February 21st, 2022 | Post by :- | 333 Views

नूरपुर शहर में बेसहारा पशुओं के आतंक ने लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है अब तो बेसहारा पशु ना केवल लोगों को मारने के लिए दौड़ते हैं बल्कि दुकानों को भी नुकसान पहुंचाने लगे हैं मामला सोमवार सुबह का है जब दो बेसहारा पशु लड़ते हुए एक दुकान में जा घुसे। दुकान के बाहर लगाए हुए शीशे का दरवाजा टूट गया। इससे दुकानदार को हजारों रुपये का नुकसान हुआ है।

दुकानदार अनूप ने बताया कि वह सुबह अपनी दुकान के अंदर बैठा हुआ था। इतने में दो बेसहारा पशु लड़ते हुए उनकी दुकान के पास पहुंच गए। वह दुकान से बाहर निकलने ही लगे थे कि दोनों बेसहारा पशुओं ने दरवाजे को टक्कर मार दी। शीशे का दरवाजा बेसहारा पशुओं के हमले में टूट गया। गनीमत यह रही कि इनकी लड़ाई में बच गए। उन्होंने भागकर जान बचाई। उन्होंने बताया कि वार्ड 2 में अक्सर बेसहारा पशु लोगों को नुकसान पहुंचाते हैं। बेसहारा पशुओं की वजह से उनका हज़ारों रुपये का नुकसान हुआ है। अगर बेसहारा पशु के हमले के दौरान कोई ग्राहक खड़ा होता तो कोई अनहोनी हो सकती थी। नगर परिषद को इस समस्या का समाधान करना चाहिए। प्रशासन उन्हें हुए नुकसान के लिए आर्थिक मदद करे।

बेसहारा पशुओं की समस्या इन दिनों जिला कांगड़ा में हर क्षेत्र के लोग परेशान हैं। बेसहारा पशु क्षेत्र वासियों के लिए परेशानी का सबब बन चुके हैं। आए दिन बेसहारा पशुओं के कारण सड़क हादसे हो रहे हैं। सड़कों और गलियों में पशु किसी न किसी की जान लील रहे हैं। कई बार तो इनकी आपसी लड़ाई का राहगीर तक शिकार बन जाते हैं। इसके बावजूद प्रशासन मौन बैठा हुआ है। हालांकि प्रशासन की तरफ से बेसहारा पशुओं को पकड़कर उन्हें गौशाला में भिजवाने के दिशा-निर्देश दिए हुए हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।