नगर पंचायत करसोग के उपाध्‍यक्ष ने विकास कार्य न होने पर खोला मोर्चा, लगाए ये आरोप #news4
March 11th, 2022 | Post by :- | 104 Views

करसोग : मंडी जिला की नगर पंचायत करसोग के खिलाफ़ उपाध्यक्ष ने मोर्चा खोल दिया है। उन्‍होंने विकास कार्य में मनमानी करने के आरोप लगाए है। उपाध्यक्ष बंसी लाल ने आरोप लगाया है नगर पंचायत में विकास कार्य ठप हैं। नगर पंचायत परिधि में न तो कई जगहों पर स्ट्रीट लाइटें लगाई गई हैं और न ही नालियां बनी हैं। यही नहीं नगर पंचायत में करोड़ों रुपये होने के बाद भी लोगों को पार्क और पार्किंग की सुविधा तक नहीं दी जा रही है, जिससे जनता को भारी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है।

हालत यह है कि पार्किंग की सुविधा न होने से लोगों को मजबूरन अपने वाहन सड़कों के किनारे खड़े करने पड़ रहे हैं जिस कारण वाहन मालिकों के चालान कट रहे हैं, जिससे आम जनता में नगर पंचायत के खिलाफ भारी रोष है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि नगर पंचायत में विकासकार्य करवाने के लिए कमेटी भी बनी है। इसमे उपाध्यक्ष को भी शामिल किया गया है, लेकिन विकास कार्य के लिए जो भी टेंडर लगाए जाते हैं, उसमें न तो उनको पूछा जा रहा है और न ही कहीं पर हस्ताक्षर करवाए जाते हैं। ऐसे में नगर पंचायत में टेंडर लगाने में मनमानी की जा रही है।

बंसी लाल ने नगर पंचायत की पारदर्शिता पर भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह की मनमानी सही नहीं है। इसके खिलाफ शिकायत की जाएगी। मनमानी को रोकने के लिए ही हाल ही में पंचायत के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव भी लाया गया है। उन्होंने नगर पंचायत को अल्टीमेटम दिया है कि अगर बरसात से पहले पानी की निकासी के लिए नालियां, रोजगार गारंटी योजना के तहत लोगों को रोजगार देने सहित अन्य विकासकार्य शुरू नहीं किए गए तो आने वाले समय में उग्र आंदोलन किया जाएगा, जिसके लिए नगर पंचायत और प्रशासन जिम्मेदार होगा।

घरों से कूड़ा न उठाने पर एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

डोर टू डोर गारवेज कलेक्शन के तहत घरों से कूड़ा न उठाए जाने पर भी बंसी लाल की अध्यक्षता में एसडीएम को ज्ञापन सौंपा गया है। यहां शुक्रवार को सौंपे गए ज्ञापन में बंसी लाल ने कहा है कि नगर पंचायत परिधि में लोगों के घरों से कूड़ा नहीं उठाया जा रहा है, जिससे स्थानीय जनता को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस मौके पर पुराना बाजार के पार्षद भानु प्रकाश भी उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।