दंपती की अंतिम विदाई पर रोया पूरा गांव, बेटे-बहू की अर्थी देख मां-बाप कई बार हुए बेसुध, 12 साल के बेटे ने दी मुखाग्नि #news4
June 10th, 2022 | Post by :- | 141 Views

शुक्रवार को लडभड़ोल क्षेत्र के रोपा गांव में जब घर के आंगन से एक साथ दो अर्थियां उठीं तो सैकड़ों लोगों की आंखें नम थी। रोपा गांव के श्मशानघाट में बेटे अर्णव ने मां सीमा व पिता सतीश को मुखाग्नि दी। सिहूण-बैजनाथ-लडभड़ोल सड़क पर दो दिन पहले कार हादसे में मारे गए गृहरक्षक सतीश कुमार व उनकी पत्नी सीमा का अंतिम संस्कार शुक्रवार को रोपा में किया गया। 12 साल के बेटे अर्णव व सात साल की बेटी अवनी ने नम आंखों से माता-पिता को अंतिम विदाई दी। अंतिम यात्रा में सैकड़ों ग्रामीणों ने उपस्थिति दर्ज करवाई।

इस दौरान मृतक सतीश के पिता प्यार चंद व माता कमला देवी बेटे और बहू की अर्थी पर फूट-फूट कर बिलखते रहे। सतीश के भाई मुनीष के अलावा ग्रामीण और स्वजन बुजुर्ग मां-बाप को हौसला दिलाते रहे, लेकिन बेटे और बहू की दर्दनाक मौत पर वह कई बार बेसुध हुए।

हादसे पर इन्‍होंने शोक जताया

जिला परिषद सदस्य ममता भाटिया ने मृतक के स्वजन के समक्ष संवेदनाएं व्यक्त कीं। लडभड़ोल क्षेत्र में हुए दर्दनाक कार हादसे में पूरे क्षेत्र पर फैले मातम को देखते हुए विधायक प्रकाश राणा के स्वागत कार्यक्रम में भी बदलाव किया। उन्होंने भी मृतक के स्वजन के प्रति गहरी संवेदनाएं प्रकट कीं। पूर्व मंत्री गुलाब सिंह ठाकुर ने भी इस हादसे पर गहरा शोक प्रकट किया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।