ऊबड़खाबड़ रास्ते से फाहों के बीच पीठ पर उठा 8 किमी दूर सड़क तक पहुंचाई महिला
January 20th, 2023 | Post by :- | 48 Views

बर्फ के फाहों के बीच ऊबड़खाबड़ रास्ते से आधी रात को तबीयत खराब होने पर एक महिला मरीज को पीठ पर उठाकर आठ किलोमीटर का पैदल सफर तय कर सड़क तक पहुंचाना पड़ा। यह मामला जिला कुल्लू की दुर्गम पंचायत गाड़ापारली का है। यहां अकसर बीमारी की हालत में मरीज को पीठ पर उठाकर लाना पड़ता है। इसका कारण गांव के लिए आज तक सड़क नहीं पहुंच पाना है। गुरुवार देर रात 1:00 बजे कुल्लू जिले के मैल गांव की बबली देवी (24) को पेट में अचानक दर्द उठा। महिला को कुल्लू अस्पताल ले जाने के लिए आननफानन में परिजनों और ग्रामीणों ने उसे पीठ पर उठाया और ऊबड़खाबड़ रास्ते से चल दिए। रास्ते में बर्फ के फाहों ने भी उनकी खूब परीक्षा ली। बीमार महिला को आठ किलोमीटर दूर निहारनी में सड़क तक पहुंचाया गया।

इसके बाद महिला को निजी वाहन से जिला मुख्यालय कुल्लू लाया गया। गौर रहे कि सैंज घाटी की सबसे दुर्गम पंचायत गाड़ापारली का एक भी गांव सड़क से नहीं जुड़ा है। ग्रामीण तीर्थ राम, दुनीचंद, सोहन लाल, मोती राम ने कहा कि सरकार और जिला प्रशासन के समक्ष कई बार पंचायत को सड़क से जोड़ने की मांग की गई, लेकिन आश्वासनों के सिवाय कुछ नहीं मिला। वार्ड सदस्य रमेश धामी ने कहा कि पंचायत घर भी मैल गांव में है। इसे सड़क से जोड़ने के दावे सिर्फ घोषणाओं में ही होते आए हैं। उधर, पंचायत प्रधान यमुना देवी ने कहा कि पंचायत प्रतिनिधियों और ग्रामीणों ने कई बार प्रशासन और सरकार से सड़क बनाने की मांग की है, लेकिन समस्या अभी बनी हुई है। सात जनवरी को भी पंचायत के मझाण गांव से 75 वर्षीय बुजुर्ग महिला को उपचार के लिए पीठ पर ले जाना पड़ा था।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।