नाबालिग लड़की को भगा कर किया था गलत काम, कोर्ट ने दोषी को सुनाई ये सजा #news4
August 20th, 2022 | Post by :- | 90 Views

मंडी : विशेष न्यायाधीश (पोक्सो) मंडी जिला मंडी हिमाचल प्रदेश की अदालत ने नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म के दोषी को विभिन्न धाराओं में कारावास और जुर्माने की सजा सुनाई। जिला न्यायवादी मंडी कुलभूषण गौतम ने बताया कि पीड़िता के पिता ने पुलिस के पास अपना बयान दर्ज करवाया था कि उसकी नाबालिग बेटी को दोषी बहला-फुसलाकर अपने साथ भगाकर ले गया है। दोषी ने भी पीड़िता के पिता को फोन करके बताया था कि पीड़िता उसके साथ चंडीगढ़ में है।

इस बयान के आधार पर थाना बीएसएल कालोनी सुंदरनगर में अभियोग दर्ज हुआ था, जिसकी जांच पुलिस ने अमल में लाई थी। तफ्तीश के दौरान पीड़िता ने अपने बयान में बताया था कि दोषी ने उसके साथ दुष्कर्म किया था और उसे 6 दिन तक कमरे में बंद रखा। दोषी के अपराध की पुष्टि डीएनए रिपोर्ट से भी हुई थी। उक्त मामले में अभियोजन पक्ष ने अदालत में 22 गवाहों के बयान दर्ज करवाए गए थे। मामले में सरकार की तरफ से पैरवी उपजिला न्यायवादी विनय वर्मा और कंवर उदय सिंह ने की थी।

अभियोजन एवं बचाव पक्ष की दलीलों को सुनने के बाद अदालत ने दोषी रेशम चंद निवासी पांगणा जिला मंडी को भारतीय दंड संहिता की धारा 363 के तहत 3 वर्ष के साधारण कारावास एवं 1000 रुपए जुर्माने की सजा, भारतीय दंड संहिता की धारा 376 के तहत 10 वर्ष के कठोर कारावास एवं 5000 रुपए जुर्माने की सजा और पोक्सो एक्ट की धारा 4 के तहत 10 वर्ष के साधारण कारावास एवं 5000 रुपए जुर्माने की सजा सुनाई। जुर्माना अदा न करने की सूरत में दोषी को अलग-अलग धाराओं में 3 महीनों तक के अतिरिक्त कारावास की सजा भुगतने के आदेश भी दिए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।