सुक्खू सरकार में ये 7 विधायक बने कैबिनेट मंत्री, इन 6 विधायकों को बनाया CPS
January 8th, 2023 | Post by :- | 68 Views

शिमला : मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू के नेतृत्व में बनी कांग्रेस सरकार में 7 कैबिनेट मंत्रियों व 6 मुख्य संसदीय सचिव (सीपीएस) को शामिल किया गया है। राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ अर्लेकर ने राजभवन में आयोजित एक गरिमापूर्ण समारोह में सुबह 10 बजे 7 कैबिनेट मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ लेने वालों में सोलन विधानसभा क्षेत्र से डॉ. धनी राम शांडिल, कांगड़ा जिला के ज्वाली विधानसभा क्षेत्र से प्रो. चंद्र कुमार, सिरमौर जिला के शिलाई विधानसभा क्षेत्र से हर्षवर्धन चौहान, किन्नौर से जगत सिंह नेगी, शिमला जिला के जुब्बल-कोटखाई विधानसभा क्षेत्र से रोहित ठाकुर, कसुम्पटी विधानसभा क्षेत्र से अनिरुद्ध सिंह तथा शिमला ग्रामीण से विक्रमादित्य सिंह शामिल है। मंत्रिमंडल में शामिल किए गए सदस्यों में डाॅ. धनी राम शांडिल (83) सबसे उम्रदराज तथा सबसे युवा विक्रमादित्य सिंह (34) हैं।

ये बनाए 6 मुख्य संसदीय सचिव
मंत्रिमंडल के सदस्यों के शपथ लेने से पहले मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने 6 मुख्य संसदीय सचिवों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। इसमें आशीष बुटेल, संजय अवस्थी, सुंदर सिंह ठाकुर, किशोरी लाल, राम कुमार चौधरी और मोहन लाल ब्राक्टा शामिल हैं। शपथ ग्रहण समारोह में उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व सांसद प्रतिभा सिंह, मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार सुनील शर्मा, प्रधान सलाहकार (मीडिया) नरेश चौहान, विधायक, मुख्य सचिव प्रबोध सक्सेना व मुख्यमंत्री के विशेष कार्य अधिकारी गोपाल शर्मा सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

ये रहेगी मंत्रियों की वरिष्ठता
कांग्रेस सरकार में मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू व उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री के बाद डाॅ. धनी राम शांडिल सबसे वरिष्ठ मंत्री होंगे। उनके बाद चंद्र कुमार, हर्षवर्धन चौहान, जगत सिंह नेगी, रोहित ठाकुर, अनिरुद्ध सिंह और विक्रमादित्य सिंह शामिल है।

हर्षवर्धन व नेगी ने अंग्रेजी में ली शपथ
प्रदेश मंत्रिमंडल में शामिल हर्षवर्धन चौहान और जगत सिंह नेगी ने अंग्रेजी में शपथ ली। इसके अलावा शेष मंत्रियों ने हिंदी में शपथ ली।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।