सिरमौर के इन छह अधिकारियों व कर्मचारियों को मिलेगा पुलिस सेवा पदक #news4
February 27th, 2022 | Post by :- | 296 Views

नाहन : हिमाचल प्रदेश पुलिस महानिदेशक ने प्रदेश में बेहतरीन कार्य करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों के लिए उत्कृष्ट सेवा पदक एवं अति उत्कृष्ट सेवा पदक की सूची जारी कर दी है। वर्ष 2020 के 96 पुलिस कर्मियों को उत्कृष्ट सेवा पदक तथा 77 कर्मचारियों को अति उत्कृष्ट सेवा पदक से जल्द नवाजा जाएगा। शनिवार देर शाम को पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू ने इसकी अधिसूचना जारी की। जिला सिरमौर के विभिन्न पुलिस थानों में कार्यरत छह पुलिस कर्मचारियों व अधिकारियों का चयन किया गया है।

तीन कर्मचारियों को उत्कृष्ट सेवा पदक तथा तीन अन्य को अति उत्कृष्ट सेवा पदक के लिए चयनित किया गया है। उत्कृष्ट सेवा पदक के लिए पांवटा साहिब उपमंडल के पुलिस थाना पुरुवाला प्रभारी इंस्पेक्टर विजय कुमार, सीआइडी नाहन से हेड कांस्टेबल नरेंद्र कुमार तथा पुलिस चौकी कच्चा टैंक नाहन से कांस्टेबल अयूब खान का चयन किया गया है। अति उत्कृष्ट सेवा पदक के लिए जिला सिरमौर के दुर्गम क्षेत्रों में गिने जाने वाले शिलाई पुलिस थाना के प्रभारी सब इंस्पेक्टर मस्तराम ठाकुर, नाहन ट्रैफिक इंचार्ज एएसआइ रामलाल तथा पांवटा साहिब पुलिस थाने में अतिरिक्त थाना प्रभारी जीतराम का चयन किया गया है।

पुलिस कर्मचारियों व अधिकारियों ने बताया कि उत्कृष्ट सेवा पदक तथा अति उत्कृष्ट सेवा पदक के लिए अधिकारियों द्वारा चयन किया जाता है। यह चयन कर्मचारियों के कुशल कार्यक्षमता, जनता के साथ बेहतरीन संवाद तथा कर्मचारी किस तरह से अपने कार्य को करते हैं, बहुत सारे ऐसे प्वाइंट्स चयन की प्रक्रिया में शामिल किए जाते हैं। उसके बाद गोपनीय प्रक्रिया के तहत इन पुरस्कारों के लिए उच्च अधिकारियों द्वारा चयन किया जाता है। यह पुरस्कार जल्द ही इन सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को दिए जाएंगे।

पुलिस थाना पुरुवाला के प्रभारी इंस्पेक्टर विजय कुमार ने बताया कि उन्हें उत्कृष्ट सेवा पदक क्षेत्र में होने वाले अवैध खनन को रोकने, ब्लाइंड मर्डर ट्रेस करने तथा 425 किलो गांजा पकड़ने सहित अन्य कई मामलों में बेहतरीन कार्य करने के लिए दिया गया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।